adsense

June 30, 2014

9 शेयर आज दांव लगाने के लिए

मुंबई। शेयर बाजार निवेशक आज 30 जून 2014 को स्‍टील स्‍ट्रीप्‍स व्‍हील्‍स, टाइटन इंडस्‍ट्रीज, हैक्‍जावेयर इंडस्‍ट्रीज, टीवीएस मोटर, मान इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, प्रीमियर कैपिटल, मफतलाल इंडस्‍ट्रीज, रिलायंस इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर और मेक्‍लॉयड रुशेल पर दांव लगा सकते हैं।

टाइटन इंडस्‍ट्रीज को 354 रुपए के ऊपर खरीदें और 349 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 357 रुपए एवं 361 रुपए है। यदि यह 349 रुपए के नीचे रहता है तो गिरकर 345 रुपए एवं 343 रुपए आ सकता है।

टीवीएस मोटर को 163 रुपए के ऊपर खरीदें और 157 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 167 रुपए एवं 174 रुपए है। यदि यह 157 रुपए के नीचे रहता है तो गिरकर 152 और 145 रुपए आ सकता है।

मान इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर 183 रुपए के ऊपर खरीदें और 171 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 189 एवं 197 रुपए है। यदि यह 171 रुपए के नीचे रहता है तो यह गिरकर 164 और 155 रुपए आ सकता है।

प्रीमियर कैपिटल को 295 रुपए के ऊपर खरीदें और 293 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 297 एवं 299 रुपए है। यदि यह 293 रुपए के नीचे रहता है तो यह गिरकर 290 रुपए और 289 रुपए आ सकता है।

मफतलाल इंडस्‍ट्रीज को 174 रुपए के ऊपर खरीदें और 170 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 185 रुपए एवं 195 रुपए है। यदि यह 168 रुपए के नीचे रहता है तो यह गिरकर 163 और 148 रुपए आ सकता है।

रिलायंस इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को 736 रुपए के ऊपर खरीदें और 729 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 739 एवं 746 रुपए है। यदि यह 729 रुपए के नीचे रहता है तो यह गिरकर 724 और  718 रुपए आ सकता है।

मेक्‍लॉयड रुशेल को 317 रुपए के ऊपर खरीदें और 311 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 325 एवं 333 रुपए है। यदि यह 311 रुपए के नीचे रहता है तो यह गिरकर 304 और  290 रुपए आ सकता है।

हैक्‍जावेयर इंडस्‍ट्रीज 157 रुपए के ऊपर खरीदें और 154 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 160 एवं 163 रुपए है। यदि यह 153 रुपए के नीचे रहता है तो यह गिरकर 151 और 145 रुपए आ सकता है।

स्‍टील स्‍ट्रीप्‍स व्‍हील्‍स 265 रुपए के ऊपर खरीदें और 250 रुपए के स्‍टॉप लॉस के साथ इसका लक्ष्‍य 277 एवं 290 रुपए है। यदि यह 250 रुपए के नीचे रहता है तो यह गिरकर 238 और 211 रुपए आ सकता है।


June 29, 2014

प्री बजट रैली की उम्मीद पर हावी हुआ कमजोर मानसून

भारतीय शेयर बाजार में लगातार तीसरे सप्ताह सुस्ती के बीच हल्की कमजोरी देखी गई। बाजार बजट में नई सरकार से काफी उम्मीद लगाए बैठा है, जिससे बाजार में बजट के पहले एक अच्छी तेजी आ सकती है, लेकिन इस उम्मीद के बीच निवेशकों को कमजोर मानसून और इराक में बढ़ते सकंट की चिंता सताने लगी है क्योंकि इन दोनों कारणों से भारतीय अर्थव्यवस्था गडबडा सकती है।

गत सप्ताह की बात करें तो बाजार में एक छोटी रेंज में भारी उठापटक के साथ कारोबार हुआ। गैस कीमत बढ़ाने के निर्णय को टालने से ऑयल एंड गैस सैक्टर में शुरुआती तेजी के बाद तेज गिरावट देखने को मिली। वहीं दूसरी तरफ ऑटोमोबाइल सैक्टर में एक्साइज ड्यूटी में छूट को जारी रखने के फैसले से ऑटोमोबाइल कंपनियों के शेयरों में अच्छी तेजी देखने को मिली। जहां बजाज ऑटो निफ़्टी में 6 फीसदी की साप्ताहिक बढ़त के साथ सबसे ऊपर था। इसके आलावा बाजार में सुस्ती के बीच डिफेंसिव फार्मा और आईटी सैक्टर में अच्छी मजबूती देखी गई।                

इस सप्ताह के मुख्य घटक:  
·  जुलाई माह के शुरुआत में मानसून की स्थिति एवं इराक संकट के हालात। 
·  मंगलवार से ऑटो कंपनियां अपनी बिक्री के आंकड़े जारी करेंगी।
·  मंगलवार को भारत के एचएसबीसी मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई आंकड़े एवं  
·  गुरुवार को भारत के एचएसबीसी सर्विस पीएमआई आंकड़े जारी होंगे।      

टेक्निकल आउटलुक:  स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के इक्विटी विश्‍लेषक संतोष मीणा का कहना है कि  निफ्टी को टेक्निकली 7480 निकटतम और मजबूत सपोर्ट है। इसके नीचे फिसलने पर 7400 पर अगला मुख्य सपोर्ट रहेगा, इसके नीचे जाने पर ही बाजार में कमजोरी की आंशका दिखती है। वहीं ऊपर की ओर अगर निफ्टी 7600 पार करने में कामयाब हो जाता है तो बाजार में लंबी तेजी की उम्मीद बनती है और बजट तक निफ्टी में 7850 तक का स्तर भी देखा जा सकता है। जो निफ्टी के लिए सबसे मजबूत रेजिस्टेंस का काम करेगा। 
        
इन पर रखें नजर : बाजार में मजबूती रही तो पॉवर और इंफ्रा सैक्टर में अच्छी तेजी देखने को मिल सकती है। जहां टेक्निकल चार्ट पर पॉवरग्रिड और एलएंडटी के शेयर तेजी के संकेत दे रहे हैं। इसके आलावा मिडकैप और और स्मालकैप सैक्टर में भी तेजी बरकरार रह सकती है। मिडकैप शेयर में टाटा एलेक्‍सी के शेयर में लंबी तेजी की उम्मीद बन रही है इसका मौजूदा भाव 615 है।   


सोने-चांदी में इस सप्ताह लेवाली का माहौल

घरेलू एवं विदेशी बाजारों में सोने-चांदी की कीमतों में पिछले सप्ताह स्थिरता देखने को मिली । कमोडिटी एक्सचेंज एमसीएक्स पर अगस्त वायदा सोना 4 रुपए की मामूली बढ़त के साथ 27672 (+0.01फीसदी) रुपए पर बंद हुआ। चांदी सितंबर वायदा 185 रुपए की बढ़त के 45097 (+0.41फीसदी) रुपए पर बंद हुई।

स्थानीय स्पॉट मार्केट में शनिवार को 24 कैरेट सोने का भाव 28510  रुपए प्रति दस ग्राम और चांदी का भाव 45472 रुपए प्रति किलो ग्राम था । अंतरराष्‍ट्रीय  बाजार में शुक्रवार को सोना 1316.35  डॉलर औंस के स्तर पर बंद हुआ। वहीं चांदी 20.97 डालर औंस के स्तर पर बंद हुई।

फंडामेंटल वॉच: चीन में पहली तिमाही में सोने की बिक्री पिछले साल की समान अवधि के लिए 0.8 प्रतिशत से बढ़कर 323 टन पहुंच गई है एवं चीन सोने के निवेशकों को आकर्षित करने के लिए इस तिमाही में एक अंतरराष्‍ट्रीय व्यापार बोर्ड लांच कर सकता है जो कि एक फ्री ट्रेड जोन होगा  इससे सोने के व्यापार में बढ़ोतरी होगी  इराक में आतंकवादी विद्रोह, रूस एवं यूक्रेन के बीच बढ़ता तनाव एवं टेक्निकल चार्ट के सपोर्ट के कारण सोने-चांदी में इस सप्ताह में भी खरीददारी का माहौल देखने को मिल सकता है 

इनका रखें ध्यान: इस सप्ताह आने वाले अमरीका के महत्वपूर्ण आर्थिक आंकड़ों में सोमवार के पेंडिंग होम सेल्सबुधवार के एडीपी नॉनफार्म एम्प्लॉयमेंट चेंज एवं जेनेट येलेन की स्पीच, गुरुवार के अनएम्प्लॉयमेंट क्लैम,ट्रेड बैलेंसमंथली नॉनफार्म एम्प्लॉयमेंट चेंज एवं अनएम्प्लॉयमेंट रेट  के आंकड़ों का भी निवेशकों को ध्यान रखना चाहिए  

टेक्नीकल वॉच: स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के कमोडिटी विश्‍लेषक अमित खरे का कहना है कि एमसीएक्स पर अगस्त वायदा सोने के प्रमुख रेजिस्टेंस 27880-28100-28500 रुपए हैं   वहीं 27450-27030- 26650 रुपए के निचले स्तर महत्वपूर्ण सपोर्ट हैं । इसी प्रकार 44970-45450- 46210 रुपए के ऊपरी स्तर जुलाई वायदा चांदी के रेजिस्टेंस हैं । दूसरी तरफ 43900-43300-42900 रुपए के निचले स्तर चांदी के लिए महत्वपूर्ण सपोर्ट का काम करेंगे | 


सोया ऑयल में सामान्य तेजी के आसार

देश में सोयाबीन की बुआई का समय नजदीक आने एवं मानसून में देरी होने की संभावना की वजह से इस सप्ताह सोया ऑयल  सोयाबीन की कीमतों में समर्थन देख सकते हैं। 

पिछले वर्ष की तुलना में बारिश कम होने की संभावना से भी इस सप्ताह में सोया ऑयल एवं सोयाबीन की कीमतों में निचले स्तरों से सामान्य तेजी देखी जा सकती है। इराक में अभी भी तनाव की स्थिती बनी हुई है जिसकी वजह से अंतरराष्ट्रीय बाजार में सप्लाई बाधित होने की आंशका से कच्चे तेल की कीमतों में तेजी की संभावना है। 

आने वाले सप्ताह में भारतीय रुपए की तुलना में अमरीकी डॉलर में मजबूती बने रहने की वजह से आयातित सोया ऑयल महंगा होने के आसार हैं। भारत अपनी कुल खाद्य तेल मांग की 55-60 प्रतिशत आपूर्ति आयात के द्वारा करता है। 

अमरीका में सोयाबीन की बुआई 95 प्रतिशत पूरी हो चुकी है जो कि पिछले 5 वर्षो की औसत बुआई से ज्यादा है। वहीं मध्य पश्चिम क्षेत्र में लगातार बारिश जारी रहने से फसल प्रभावित होने की आंशका बनी हुई है।  

टेक्निकल ऑउटलुक: पिछले सप्ताह सोया ऑयल इंदौर हाजिर भाव 4.80 रुपए की तेजी के साथ 704. 25 (+0.69 फीसदीरूपए पर बंद हुआ। एनसीडीईएक्‍स में जुलाई माह वायदा भाव 11.65 रुपए की तेजी के साथ 695.15 (+1.70 फीसदीरुपए पर बंद हुआ। 

स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के कमोडिटी विश्‍लेषक विष्‍णु श्रीकार का कहना है कि एनसीडीईएक्स एक्सचेंज पर इस सप्ताह निवेशक जुलाई माह कॉन्ट्रैक्ट में 687 रुपए के स्तर के लगभग खरीदी कर 680 रुपए का स्टॉप लॉस रखें, इस सप्ताह 698 रुपए तक का ऊपरी स्तर देख सकते हैं।