adsense

August 01, 2007

अपने आप को करिए जीत के लिए तैयार

दुनिया भर के शेयर बाजारों में आई गिरावट के लपेटे से भारतीय शेयर बाजार बच नहीं पाए हैं और बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज का सेंसेक्‍स इस समय तकरीबन 545 अंक नीचे चल रहा है यानी कल की जो मजबूती थी वह पूरी तरह साफ हो गई है। हालांकि, हमने 27 जुलाई को भी कहा था कि आप कुछ नहीं खोएंगे यदि धैर्य है तो...हम इस राय पर अभी भी कायम है और यह मानते हैं कि वर्ष 2007 के अंत तक सेंसेक्‍स 18 हजार अंक की ऊंचाई को छू लेगा।

असल में हर गिरावट के बाद एक उछाल आता है लेकिन सच्‍चा खिलाड़ी वह है जो हर बड़ी गिरावट में बेहतर शेयर छोटी छोटी मात्रा में खरीदता है। आपको कई बार यह लगता है कि मैंने अमुक कंपनी के शेयर नहीं लिए या चूक गया...लेकिन ऐसी गिरावट आपको बेहतर कंपनियों या अपनी पसंदीदा कंपनियों के शेयर खरीदने के मौके देती है। गिरावट के समय जो सबसे बड़ा मंत्र है, पहले आप शांत मन से अपनी पसंदीदा कंपनियों की सूची का विश्‍लेषण करें और यह देखें कि जिन कंपनियों के शेयर आप खरीदना चाहते हैं उनके नतीजे पिछले तीन सालों में किस तरह के आए हैं, प्रबंधन कैसा है, जिस क्षेत्र से कंपनी जुड़ी हैं, उस उद्योग का भविष्‍य कैसा है। क्‍या शेयर खरीदने के बाद आपकी होल्डिंग क्षमता कैसी है। इस तरह के अनेक कारक हैं जिन पर आप विचार कर हर गिरावट में बेस्‍ट कंपनियों के शेयर ले सकते हैं, लेकिन याद रखिए आपकी यह खरीद छोटी छोटी मात्रा में होनी चाहिए ताकि अगली गिरावट पर भी आपके पास लिक्विडीटी बनी रहे।

जब हम कोई साहसी खेल खेलते हैं तो उसमें उतार चढ़ाव नहीं हो तो आनंद नहीं आता। जैसे क‍ि क्रिकेट में कई बार गेंद और रनों की संख्‍या में इस तरह का अंतर आ जाता है कि अब कौन जीतेगा, अब कौन जीतेगा, हम यही सोचते रहते हैं और अंदर एक तरह का रोमांच महसूस करते हैं, प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हैं। अरे, मार गेंद को या फिर निकाल यह विकेट। ठीक इसी तरह शेयर बाजार में होने वाला उतार चढ़ाव सच्‍चे निवेशक को एक आनंद देता है। बीएसई कल बढ़कर जरुर बंद हुआ लेकिन दिन भर में सेंसेक्‍स ने आठ सौ अंकों का खेल खेला। इस खेल में यदि आनंद नहीं होगा तो मजा नहीं आएगा। शेयर बाजार लगातार बढ़ता रहे या घटता रहे, तो अनेक निवेशक बोरियत महसूस कर बाहर निकल जाएंगे। लेकिन जब उतार चढ़ाव आता है तो आप अपने बौद्धिक ज्ञान का उपयोग भी ज्‍यादा करते हैं। हम एक बार फिर कहना चाहेंगे कि गिरावट पर बेहतर कंपनियों के शेयर खरीदें जिनसे आप चूक गए थे और धैर्य रखें, जीत आपकी होगी।

गिरावट के समय सबसे ज्‍यादा नुकसान उन निवेशकों का होता है जो एफ एंड ओ खेलते हैं और वाह मनी ब्‍लॉग ने कभी भी निवेशकों को एफ एंड ओ खेलने की सलाह नहीं दी है। हम अभी भी अपनी इस राय पर कायम हैं। एफ एंड ओ के अलावा उन निवेशकों को नुकसान हो सकता है जिन्‍होंने कहीं से ब्‍याज पर पैसा लेकर शेयर बाजार में लगाया है अन्‍यथा यह बाजार वापस सुधार की ओर बढ़ेगा, यह तय है। तो अपने आप को करिए जीत के लिए तैयार।

No comments: