adsense

August 02, 2007

पीटीसी इंडिया है डार्क हॉर्स


पीटीसी इंडिया लिमिटेड जल्‍दी ही डार्क हॉर्स साबित होगा। इस कंपनी की भावी योजनाओं और नतीजों पर देखें तो यही लगता है। वैसे भी शेयर बाजार में आई तेजी में अब तक सभी क्षेत्र चल चुके हैं लेकिन बिजली क्षेत्र इससे दूर था और बिजली क्षेत्र पर अब सभी की नजरें हैं। यहां पीटीसी इंडिया से जुड़ी दो खबरें देखते हैं जो आज चर्चा में है।

पहली खबर...देश की मुख्‍य बिजली कारोबार कंपनी पीटीसी इंडिया लिमिटेड ने राज्‍य सरकारों के साथ बिजली कारोबार के लिए स्‍पेशल परपज व्‍हीकल्‍स बनाने और दो हजार करोड़ रूपए का एक पावर फंड बनाने का फैसला किया है। पीटीसी इस फंड का उपयोग बिजली बनाने वाली कंपनियों में हिस्‍सा लेने के लिए करेगी। पीटीसी उन कंपनियों से बातचीत कर रही हैं जो अपनी जरुरत से ज्‍यादा बिजली बनाती है लेकिन उसका उपयोग नहीं कर पाती।

दूसरा समाचार, फाइनेंशियल टेक्‍नालॉजिस और पीटीसी इंडिया देश का पहला बिजली एक्‍सचेंज खोल रहे हैं जिसमें टाटा पावर और रिलायंस एनर्जी एवं अदानी इंटरप्राइजेज भी शामिल होंगे। इस एक्‍सचेंज में फाइनेंशियल टेक्‍नालॉजिस की भागीदारी 51 फीसदी और पीटीसी इंडिया की हिस्‍सेदारी 26 फीसदी होगी। फाइनेंशियल टेक्‍नालॉजिस, कमोडिटी एक्‍सचेंज एमसीएक्‍स की प्रमोटर है। शेष इक्विटी में पांच पांच फीसदी हिस्‍सा टाटा पावर, रिलायंस एनर्जी, अदानी इंटरप्राइजेज लेंगे।

वर्ष 2006/07 में पीटीसी इंडिया ने 3767 करोड़ रुपए की शुद्ध बिक्री की जो पिछले साल 3109 करोड़ रुपए थी। जबकि शुद्ध मुनाफा कम होकर 41 करोड़ रूपए के बजाय 35 करोड़ रूपए रहा। 150 करोड़ रूपए की इक्विटी पूंजी पर ईपीएस 2.34 रुपए रही। कंपनी के रिजर्व 98 करोड़ रूपए से बढ़कर 116 करोड़ रूपए पहुंच गया। पीटीसी इंडिया एक निवेश लायक शेयर हैं जिसमें आप लंबी अवधि में बड़ा मुनाफा बटोर सकते हैं।

1 comment:

vineet said...

good work sir ji