adsense

January 07, 2008

शेयर की पतंग आसमान में ही रहेगी

जनवरी महीना मकर संक्रांति पर्व का होता है और इस पर्व के कई दिन पहले से देश के अनेक भागों में पतंग उड़ाने का जोरशोर दिखाई देता है। लेकिन शेयर बाजार में जो पतंग उड़ रही है वह सभी पतंगों से आगे है। वर्ष 2007 का दिसंबर महीना निवेशकों के लिए लाभदायी रहा और नए साल का पहला महीना निवेशकों की आय को और बढ़ा रहा है। आज 7 जनवरी से शुरू हो रहे सप्‍ताह में बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज का सेंसेक्‍स यदि 20947 अंक से ऊपर बंद होता है तो यह 21222 अंक तक पहुंच सकता है। स्‍पोर्ट 20222 अंक पर मिलेगा। निफ्टी 6133 के स्‍पोर्ट पर 6368 अंक पर बंद होने पर यह 6444 अंक तक पहुंच सकता है।

तकनीकी विश्‍लेषक हितेंद्र वासुदेव का कहना है कि अगले सप्‍ताह के लिए साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 20439-20255- 20000 पर होगा। साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 20940 और 21626 अंक पर रहेगा। यदि सब कुछ सही रहता है और बीएसई सेंसेक्‍स 20 हजार अंक से ऊपर बना रहता है तो इसके 22 हजार अंक की ओर बढ़ने की आस की जा सकती है। अन्‍यथा सेंसेक्‍स के घटकर 18182 आने की आशंका रहेगी।

बीएसई स्‍मॉल कैप इंडेक्‍स दैनिक और साप्‍ताहिक आधार पर मुख्‍य आउटपरफार्मर बन गया है। इसके आने वाले समय में 13883 अंक से बढ़कर 18800 अंक तक जाने की उम्‍मीद की जा सकती है। बीएसई स्‍मॉल कैप जब तक 12900 अंक से ऊपर रहेगा तब तक चिंता की कोई बात नहीं। मिड कैप भी आउटपरफार्मर है। सीएनएक्‍स मिड कैप मौजूदा स्‍तर 9637 अंक से बढ़कर 13169 अंक तक पहुंच सकता है। लेकिन इसका भी 8900 अंक से ऊपर बने रहना जरुरी है। कोटक महिंद्रा बैंक के सी जयराम की राय में शेयर बाजार में और पैसा आने की संभावना है लेकिन बजट तक बाजार के 8 से 10 फीसदी से अधिक बढ़ने की उम्‍मीद नहीं है। अब हरेक बढ़त पर बिकवाली दबाव दिखेगा।

भारतीय शेयर बाजार इस समय अमरीकी, जापान और यूरोपीय शेयरों बाजारों की चाल के विपरीत तेजी की ओर बढ़ रहा है। जापान और यूरोप के फंड इस वर्ष भारतीय शेयर बाजार में बड़े पैमाने पर निवेश करने जा रहे हैं। इस साल विदेशी संस्‍थागत निवेशकों को भारतीय शेयर बाजार में निवेश करने के लिए 1.35 लाख करोड़ रुपए मिलने का अनुमान है। इस राशि में से बड़ा हिस्‍सा जापान के फंडों से आएगा। दिसंबर 2007 में विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने 5597 करोड़ रुपए और म्‍युच्‍यूअल फंडों ने 3203 करोड़ रुपए की शुद्ध लेवाली की।

इस सप्‍ताह भारतीय कार्पोरेट जग‍त के तीसरी तिमाही अक्‍टूबर से दिसंबर के नतीजे आने लग जाएंगे। उम्‍मीद की जा रही है कि नतीजे काफी मजबूत आएंगे जिससे शेयर बाजार नई ऊंचाई की ओर बढ़ेगा। 11 जनवरी को आईटी कंपनी इंफोसिस का नतीजा आएगा और इससे पहले आईटी शेयरों में तेजी का माहौल बनेगा। आईटी में इंफोसिस, मास्‍टेक और आईगेट इस तेजी की अगुवाई करेंगे। नतीजों के इस महीने में रिलायंस पावर का 11500 करोड़ रुपए का मेगा इश्‍यू आ रहा है जिसे आम जनता का बेहतर प्रतिसाद मिलने की पूरी उम्‍मीद है और रिलायंस समूह अपने दम पर भी शेयर बाजार को ऊपर बनाए रखेगा। बीएसई ने नौ सौ से अधिक कंपनियों की सर्किट लिमिट बदल दी है जो नकद शेयरों की तेजी को ब्रेक मारेगी और आम निवेशक रिलायंस पावर में पैसा लगाने की ओर मुड़ेगा। रिलायंस पावर के अलावा महिंद्रा होली डे रिसोर्ट, फ्यूचर कैपिटल, जिंदल समूह की कंपनी जेएसडब्‍लू का पब्लिक इश्‍यू आम निवेशक को अपनी ओर आकर्षित करेंगे।

जिन कंपनियों के शेयरों पर इस सप्‍ताह निवेशक ध्‍यान दे सकते हैं वे है : हिंदुस्‍तान नेशनल ग्‍लास, हिंदुस्‍तान मोटर्स, सेंचुरियन बीओपी, एमआरओ टेक, 3 आई इंफोटेक, गरवारे ऑफशोर, केएस ऑयल, पावर फाइनेंस कार्पोरेशन, रिलायंस इंडस्‍ट्रीज, रिलायंस एनर्जी, क्‍युमिंस इंडिया, महिंद्रा एंड महिंद्रा, सांवरिया एग्रो, एबीएम नॉलेज, इंडियन होटल, ओरिएंट होटल्‍स, पेनेशिया बायोटेक और गोकुलदास एक्‍सपोर्टस।

No comments: