adsense

January 05, 2015

दलाल स्ट्रीट: इंफोसिस के नतीजों पर रहेगी नजर

मुंबई। भारतीय शेयर बाजार ने कुछ दिनों के सीमित दायरे में कारोबार के बाद फिर से रफ़्तार पकड़ ली है और शुक्रवार को निफ्टी और सेंसेक्स में क्रमश: 111/380 अंकों की शानदार तेजी देखने मिली। इस तेजी का श्रेय बैंकिंग शेयरों को जाता है क्योंकि प्रधानमंत्री और बैंकरो के बीच ज्ञान संगम नाम से दो दिवसीय बैठक में कुछ रिफार्म की उम्मीद और जल्द ही ब्याज दरों में कटौती की आस है। बैंकिंग शेयरो ने जोरदार छलांग लगाई और बैंक निफ्टी ने अपनी नई ऊंचाई को छूआ।
इस सप्ताह के प्रमुख घटक: लंबी छुट्टी के बाद सोमवार से एफआईआई फिर से एक्टिव होते नजर आएंगे और उनका रुख बाजार की दिशा में मुख्य भूमिका निभाएगा। लंबी तेजी के बाद विदेशी बाजार में थोड़ी अनिश्चितता बनी हुई है जिसका असर भारतीय बाजार पर भी देखने को मिलेगा। शुक्रवार से इंफोसिस के नतीजों से तीसरी तिमाही के नतीजों का सिलसिला शुरु होगा जिसका असर पूरे जनवरी महीने रहेगा। गुरुवार को बैंक ऑफ़ इंग्लैंड की मीटिंग और अमरीका के आर्थिक आंकड़े विदेशी घटको में प्रमुख रहेंगे। इसके अलावा रुपए और कच्चे तेल की चाल अन्य प्रमुख घटक रहेंगे।
टेक्निकल आउटलुक: स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के वरिष्‍ठ इक्विटी विश्‍लेषक संतोष मीणा का कहना है कि निफ्टी अपने 8365 के प्रमुख रेजिस्टेंस के ऊपर बंद होने में कामयाब हुआ है, जिससे निफ्टी के जल्द ही नई ऊंचाई छूने की उम्मीद बढ़ गई है जहां निफ्टी को अपने पुराने उच्चतम स्तर 8627 के बाद 8850-8900 के क्षेत्र में अगला प्रमुख रेजिस्टेंस रहेगा। नीचे की ओर 8300 का स्तर मजबूत सपोर्ट बन गया है।
इन पर रखें नजर: टेक्निकल चार्ट पर कोलगेट पामोलिव और आईडीबीआई बैंक के चार्ट पर मजबूती नजर आ रही है। कोलगेट पामोलिव में हमे 1948 और आईडीबीआई बैंक में 81 के स्तर देखने को मिल सकते है इनके मौजूदा भाव क्रमश: 1843 और 77 है।

No comments: