adsense

January 16, 2017

शेयर बाजार में हर छोटी गिरावट भी खरीदारी का मौका

भारतीय शेयर बाजार ने गत सप्‍ताह तेजी की हैट्रिक लगाई और लगातार तीसरे सप्ताह तेजी के साथ बंद होने में कामयाब रहे। इस तेजी का श्रेय मजबूत घरेलू संकेतों और डॉलर इंडेक्स में कमजोरी को जाता है। विमुद्रीकरण के बाद अर्थव्यवस्था में सुस्ती की आशंका थी लेकिन इंडसइंड बैंक और साउथ इंडियन बैंक के शानदार नतीजों एवं मजबूत आईआईपी आंकड़ो ने बाजार में रौनक लौटा दी और बाजार विमुद्रीकरण की बात को 2016 के साथ भूल कर मजबूती के साथ आगे बढ़ना चाहता है।

डॉलर इंडेक्स में कमजोरी से भी उभरती अर्थव्यवस्था के बाजारों में तेजी का रुख लौट रहा है। गत सप्ताह के अंत में निफ्टी एवं सेंसेक्स क्रमश: 8400/27238 के स्तर पर लगभग 1.9/1.8 फीसदी की साप्ताहिक तेजी के साथ बंद हुए। बाजार 2017 की शुरुआत से तेजी के मूड में आ चुका है जहां निवेशकों को हर गिरावट पर तेजी का मौका तलाशना चाहिए।

इस सप्ताह के प्रमुख नतीजे: सोमवार: रिलायंस इंडस्ट्रीज, एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस। गुरुवार: एक्सिस बैंक, यस बैंक। शुक्रवार: आरबीएल बैंक, अदानी पॉवर।

इस सप्ताह के प्रमुख घटक: सोमवार को सरकार थोक महंगाई दर के आंकड़े जारी करेगी। सोमवार को चीन अपनी चौथी तिमाही के जीडीपी आंकड़े तथा आईआईपी आंकड़े जारी करेगा।  राष्ट्रपति पद ग्रहण करने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प की नीतियों का भी असर बाजार पर देखने को मिलेगा। इसके अलावा डॉलर और कच्चे तेल की चाल अन्य प्रमुख घटक होंगे।      

टेक्निकल आउटलुक: स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के वरिष्‍ठ इक्विटी विश्‍लेषक संतोष मीणा का कहना है कि टेक्निकल चार्ट पर निफ्टी 8330 के प्रमुख रेजिस्टेंस को पार करके मजबूत बुलिश मोमेंटम में आ गया है, इसलिए हर गिरावट पर खरीदारी का मौका तलाशना चाहिए, जहां 8275 स्ट्रांग बेस का काम करेगा। ऊपर की ओर 8440/8500/8560 निकटतम रेजिस्टेंस स्तर है, जहां बाजार थोड़ा ठहरने की कोशिश कर सकता है, लेकिन इसके ऊपर निकलते ही 8730 के स्तर देखने को मिल सकते है। 

No comments: