adsense

April 09, 2007

शेयर बाजार 13 अप्रैल से नए दौर में

भारतीय शेयर बाजार की शुरूआत आज अच्‍छी हुई है। इस समय सेंसेक्‍स दोहरा शतक लगाकर आगे खेल रहा है। लेकिन असली परीक्षा 13 अप्रैल से है, जब सॉफ्टेवयर क्षेत्र की मुख्‍य कंपनी इंफोसिस अपने सालाना नतीजों की घोषणा करेगी। इसके बाद हर रोज अनेक कंपनियों के कार्य परिणाम आने शुरू हो जाएंगे। इंफोसिस अपने नतीजों के अलावा गाइडेंस भी जारी करेगी जिसकी अहम् भूमिका होगी। हालांकि, इसके नेगेटिव आने के ज्‍यादा आसार हैं। बाजार इस मसले को पहले ही डिसकाउंट कर चुका है, इसलिए अधिक असर दिखाई नहीं देगा। लेकिन हरेक कंपनी के नतीजे शेयर बाजार की अगली चाल तय कर देंगे। मौजूदा आर्थिक माहौल में फार्मा, पॉवर और इंजीनियरिंग कंपनियों में निवेश करने वाले सर्वाधिक मुनाफे में रहेंगे। 9 से 13 अप्रैल के बीच बीएसई सेंसेक्‍स 12700 से 13300 के बीच घूमता रहेगा। निफ्टी 3594 से 3946 अंक के बीच रहेगा।

चीनी स्‍टॉक से बचें

पहले हमने कहा था कि चीनी उद्योग की कंपनियों के शेयरों में डे ट्रेडिंग की जा सकती है। लेकिन अब हम देख रहे हैं कि चीनी उद्योग के लिए फिर से नेगेटिव स्थिति खड़ी हो रही है। लंदन में व्‍हाइट शुगर के भाव पिछले सप्‍ताह 730 रुपए प्रति टन टूट गए हैं। साथ ही उत्‍तर प्रदेश में चुनाव से पूर्व चीनी उद्योग के बफर स्‍टॉक सहित अन्‍य प्रोत्‍साहनों के मामले पर चुनाव आयोग ने तिरछी नजर की है। चीनी उद्योग को मिलने वाले 850 करोड़ रुपए के पैकेज को भी उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव तक टाल दिया गया है। अब इस पैकेज के बारे में निर्णय मई में होगा। जबकि, मई महीने में ब्राजील की चीनी अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में आ जाएगी। ब्राजील की चीनी से भारतीय चीनी प्रतिस्‍पर्धा नहीं कर सकती। ऐसे में चीनी शेयरों में दैनिक कारोबार करने की जो राय हमने दी थी, वह वापस ले रहे हैं। निवेशकों को सलाह दी जाती है कि अब वे चीनी शेयरों में ट्रेडिंग रोक दें या ट्रेडिंग की अपनी पोजीशन खत्‍म कर लें। चीनी शेयरों के अलावा सीमेंट, स्‍टील, ऑटोमोबाइल, ऑटो एनसीलिरी, बैंक व फाइनेंस और रियॉलिटी शेयरों से भी बचें।

ये रहे हीरो

शेयर बाजार के गणित को न समझ पाने वाले निवेशकों के लिए ये रहे लांग टर्म इनवेस्‍टमेंट शेयर :
ग्रांइडवैल नार्टन
कार्बोरेंडम यूनिवर्सल
आईएफडीसी
पीटीसी इंडिया
रिलायंस एनर्जी
एनटीपीसी
आइडिया सेलुलर
फर्स्‍ट सोर्स साल्‍यूशंस

No comments: