adsense

April 22, 2007

मानसून बनाएगा मालामाल


शेयर बाजार की अगली चाल भी तेजी की रहेगी। जैसा हम पिछले दो सप्‍ताह से लगातार कह रहे हैं कि अब शेयर बाजार में मंदी के आसार कम नजर आ रहे हैं। भारत में अगला मानसून सामान्‍य रहने की अमरीका, आस्‍ट्रेलिया और कनाडा के मानसून विभाग ने घोषणा की है। भारतीय मानसून विभाग की भी इस संबंध में जल्‍दी ही रिपोर्ट आएगी। केरल में 20 मई के आसपास मानसून दस्‍तक देगा। मानसून के संबंध में जो रिपोर्ट इस समय सामने आ रही है, उससे यह लग रहा है कि मानसून फैक्‍टर शेयर बाजार को तेजी की बौछार से भीगो देगा। इससे पहले 24 अप्रैल को भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति घोषित होगी, लेकिन लगता है कि इस नीति में अब कुछ नया नहीं होगा। इस नीति में ब्‍याज दरें बढ़ाने और महंगाई पर काबू पाने के संबंध में कड़े कदम उठाने की बात जरुर होगी, लेकिन रिजर्व बैंक ने कुछ दिन पहले जो कदम उठाए, उसके बाद और कड़े व बड़े कदम उठने की गुंजाइश कम बची है। भारतीय कार्पोरेट जगत इस समय बेहतर नतीजे घोषित कर रहा है जिससे बाजार के मनोबल पर अनुकूल असर दिखाई दे रहा है। हमारा मानना है कि अगले सप्‍ताह 23 अप्रैल से 27 अप्रैल के बीच बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी बीएसई का सेंसेक्‍स 14240 से 14450 के बीच रह सकता है, लेकिन इसके लिए बीएसई सेंसेक्‍स का 14240 अंक के ऊपर बंद होना जरुरी है। नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी एनएसई का निफ्टी यदि 4190 के ऊपर बंद होता है तो यह 4270 अंक तक जा सकता है।

हमने जैसा कि आपको पहले बताया था कि अब शुरू होगा खतरनाक खेल...के तहत अंतरराष्‍ट्रीय शेयर बाजारों में एफआईआई और हैज फंडों ने मिलकर तेजी का गेम शुरू कर दिया है। चीन की विकास दर 11.1 फीसदी, जिसे ओवरहीटेड माना गया है और इससे ब्‍याज दरें बढ़ने को नजरअंदाज कर जिस तरह तेजी के रथ पर दुनिया सवार हुई है वह एक खेल ही है। एफआईआई और हैज फंडों ने हाल में भारत को काफी आकर्षित वेल्‍युएशन पर मिल रहे शेयरों की सूची दिखाकर शेयर बाजार को उठाने का काम किया है। क्रूड ऑयल के भाव बढ़ने की शुरूआत के बावजूद अमरीकी कंपनियां बेहतर कार्य परिणाम के साथ निवेशकों के बढ़े मनोबल से शेयर बाजार को चमकाने का काम किया जा रहा है। निवेशकों से हम कहना चाहेंगे कि शेयर बाजार में आ रही तेजी का लाभ जरुर उठाएं लेकिन अपनी पोजीशन को लाभ समेटते हुए सीमित रखें। बेहद लंबे समय के निवेश या अधिक लालच के बजाय मुनाफे पर ध्‍यान दें। यहां एक बात ध्‍यान रखें कि दीर्घकालिक निवेश के शेयर अलग होते हैं और कारोबार के अलग, जिनसे आप हर दिन, हर सप्‍ताह या हर पखवाड़े में मुनाफा बटोरकर अपने बैंक खाते को बेहतर बना सकते हैं।

23 अप्रैल से शुरू हो रहे नए सप्‍ताह के आखिर से खिलाड़ी छुट्टियों के लिए तैयार रहेंगे। 28 अप्रैल को शनिवार, 29 अप्रैल को रविवार है। जबकि मंगलवार 1 मई को महाराष्‍ट्र दिवस/लेबर डे और बुधवार 2 मई को बुध जयंति के उपलक्ष में शेयर बाजार बंद रहेगा। इन छुट्टियों को देखते हुए निवेशकों को राय दी जाती है कि वे सावधानी जरुर बरतें क्‍योंकि बड़े खिलाड़ी लंबी छुट्टियों के दौरान पैसा निवेश करने से बचते हैं। हालांकि यहां हम अपनी बात फिर से दोहरा रहे हैं कि इस साल के आखिर तक बीएसई का सेंसेक्‍स 17 हजार अंक को पार कर जाएगा। आर्थिक माहौल बेहतर है। लेकिन बेहतर स्‍टॉक में निवेश करने वाले ही विजेता होंगे, फ्युचर एंड ऑप्‍शन खेलने वालों को एक बार फिर बड़ा नुकसान हो सकता है। ये निवेशक पहले मई/जून 2006 और फरवरी/मार्च 2007 में अपने हाथ जला चुके हैं।

ये हैं अगले हीरो :
आर्टसन इंजीनियरिंग
जिंदल स्‍टील
लैनेक्‍स एबीएस
टाटा पावर
सुब्रोस
यस बैंक
मारुति उद्योग
एचडीएफसी
रिलायंस इंडस्‍ट्रीज
रिलायंस एनर्जी
क्रिसिल
एडॉर फोनटेक
ओएनजीसी

3 comments:

Raviratlami said...

"...हालांकि यहां हम अपनी बात फिर से दोहरा रहे हैं कि इस साल के आखिर तक बीएसई का सेंसेक्‍स 17 हजार अंक को पार कर जाएगा।..."

ये तो बहुत ही अच्छी बात बता रहे हैं आप. समझदार को इशारा काफ़ी :)

आपके इशारों को पढ़कर तो हम एक दिन सचमुच मालदार बन सकते हैं :)

Sanjeeva Tiwari said...

हमारी भाषा
में अर्थ जगत समझाने के लिये साधुवाद

Anonymous said...

very good space for share market news. Please leave at least one news on your blog. Very good effort. Really it is nice.