adsense

May 06, 2007

मध्‍यम, छोटे क्रीम शेयरों में आक्रामक तेजी

भारतीय शेयर बाजार के लिए पिछला सप्‍ताह तेजी का रहा, हालांकि शुक्रवार को बाजार में मंदी रही लेकिन घबराने की कोई बात नहीं है। कार्पोरेट जगत के बेहतर नतीजों से अंतरराष्‍ट्रीय शेयर बाजारों में तेजी का माहौल बना हुआ है। अगले सप्‍ताह अमरीकी शेयर बाजार में भी तेजी रहेगी क्‍योंकि वहां दो बड़े अधिग्रहण होने की दिशा में बात आगे बढ़ रही है। इनमें पहला है याहू का अधिग्रहण। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की नजर याहू पर है। दूसरा, मीडिया मोगल रुपर्ट मर्डोक की नजर न्‍यूज एजेंसी डॉव जोंस पर है। पिछले सप्‍ताह यूरोप, अमरीका और लैटिन अमरीका के शेयर बाजारों में गर्मी देखने को मिली। कुछ एशियाई देशों मसलन चीन, इंडोनेशिया, सिंगापुर, कोरिया और मलेशिया के शेयर बाजारों में भी तेजी थी। अगले सप्‍ताह इन बाजारों में तेजी बनी रहेगी जिसकी अगुआई डॉव जोंस इं‍डस्ट्रियल एवरेज करेगा। आने वाले दिनों में मिड और स्‍मॉल कैप के उन शेयरों में जोरदार तेजी देखने को मिलेगी, जो बेहतर प्रबंधन के तहत कामकाज कर रही हैं। यानी मिड और स्‍मॉल कैप के क्रीम स्‍टॉक में तेजी देखने को मिलेगी। हालांकि, बाजार की नजरें उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के परिणामों पर रहेगी। मुलायम सिंह सरकार का पतन और मायावती का कांग्रेस के साथ सरकार बनाना शेयर बाजार में धमाका कर सकता है। अगले सप्‍ताह यानी 7 मई से 11 मई के दौरान बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी बीएसई सेंसेक्‍स 14355 से 13660 के बीच घूमता रहेगा। जबकि एनएसई का निफ्टी 4225 से 4020 के बीच रहने की संभावना है। अगले सप्‍ताह ओएनजीसी, गेल, वीएसएनएल, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एशियन पेंट्स, भारत बिजली, फिनोलैक्‍स केबल्‍स, टोरंट केबल, जे एंड के बैंक, डेवलपमेंट क्रेडिट बैंक, डाबर इंडिया, टीआरएफ, जीटीएन टेक्‍सटाइल, जीआईसी हाउसिंग, आईडीएफसी, कैस्‍ट्रॉल इंडिया, डिश टीवी इंडिया, और बालाजी टेलीफिल्‍मस में तेजी देखने को मिल सकती है।

2 comments:

धुरविरोधी said...

आपने अप्रेल में अन्तिम दो सप्ताह में बहुत कम लिखा. आप काम की बातें बताते हैं, रोज नहीं तो कम से कम हर दो दिन में तो एक पोस्ट लिखते रहिये.

संजय बेंगाणी said...

सही जानकारी.