adsense

May 13, 2007

सेंसेक्‍स की चाल पर नहीं लगेगी लगाम

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे शेयर बाजार के लिए उत्‍साहजनक हैं। उत्‍तर प्रदेश में सपष्‍ट बहुमत के साथ जो राजनीतिक स्थिरता आई है, उसका शेयर बाजार पर मनोवैज्ञानिक असर दिखाई देगा। साथ ही शेयर बाजार में आई शार्ट कवरिंग ने मंदडि़यों को अपना खेल खेलने से पीछे हटने को मजबूर किया है। 14 मई से 18 मई के सप्‍ताह के दौरान बीएसई सेंसेक्‍स 14061 के ऊपर बंद होता है तो यह 14290 अंक तक देखने को मिलेगा।

राजनीति के गलियारों में यह चर्चा है कि उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव नतीजों ने वामपंथियों की आंखें खोल दी हैं। पहले पंजाब, उत्‍तरांचल के नतीजों ने वामपंथियों को चेताया था लेकिन उत्‍तर प्रदेश ने इनकी आंखें पूरी तरह खोलने का काम किया है। वामपंथियों ने 15 मई को नंदीग्राम घटना पर विचार करने के लिए अपनी बैठक बुलाई है लेकिन असल में इस में यह विचार होगा कि अब यूपीए सरकार के साथ किस तरह का संबंध रखा जाए। कहीं कांग्रेस के हाथ के साथ अपना भी हंसिया व हथौड़ा किसी काम का न रह जाए। अत: मंगलवार शेयर बाजार के लिए थोड़ा रिस्‍की हो सकता है।
केवल वामपंथियों की बैठक को छोड़ दें तो शेयर बाजार के लिए कोई रिस्‍क नजर नहीं आता।

अमरीकी डॉलर रुपए के मुकाबले जिस तरह फिर से मजबूत हो रहा है, उससे साफ्टवेयर शेयरों में लेवाली बढ़ सकती है। इसके अलावा डॉ। रेड्डी के स्‍पेशल ड्रग को यूएस एफडीए की अगले हफ्ते मंजूरी मिलने की संभावना है, जिससे फार्मा कंपिनयों के शेयरों में चमक आ सकती है। शेयर बाजार में अब बारिश और मुद्रास्फिति के नाम पर खेल खेला जाएगा। बारिश की कमी और अधिकता, विकास और निवेश के आंकड़ों के साथ मुद्रास्‍फिति के उतार चढ़ाव शेयर बाजार के पंटरों के मुख्‍य हथियार होंगे।

बजाज ऑटो, टेल्‍को सहित अनेक कंपनियों के नतीजे बेहतर आते हैं तो बाजार में जान फूंक सकते हैं। अगले सप्‍ताह का डार्क हॉर्स सन फार्मा। फ्रंटरनर रहेंगे : टेल्‍को, डॉ. रेड्डी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, जेबी कैमिकल, फिनोलैक्‍स केबल्‍स, ब्‍लू चिप इंडिया, लॉयड फाइनेंस, वायथ लैब, एनआरबी बियरिंग, आईएसएमटी, एम्‍को, डेवलपमेंट क्रेडिट बैंक, सिनेमैक्‍स इंडिया।

2 comments:

संजय बेंगाणी said...

तो वामपंथीयो से बजार को भय है.
रिपोर्ट सही लिखी है.

Rajesh Roshan said...

sahi hai... aaj bajar green ho gaya. 170 point high, on 13965