adsense

August 28, 2007

शेयर में लॉटरी अगले महीने

शेयर बाजार में लॉटरी....अनोखी बात लेकिन यहां आने वाले सार्वजनिक निर्गम यानी आईपीओ में आजकल लॉटरी ही तो लगती है। अधिकतर निवेशक पिछले कुछ समय से आने वाले नए आईपीओ में जमकर निवेश कर रहे हैं क्‍योंकि उन्‍हें पता है कि ऐसी ज्‍यादातर कंपनियों की लिस्टिंग इश्‍यू प्राइस से ऊंची होती है और उस समय आबंटित शेयर बेचकर मुनाफा कमाया जा सकता है। आईपीओ में कम समय में अपने निवेश पर सबसे ज्‍यादा और जल्‍दी बड़ा रिटर्न मिलने का मौका रहता है। ऐसा ही होने वाला है आने वाले दिनों में।

पूंजी बाजार में दो कंपनियां पावर ग्रिड कार्पोरेशन और रुरल इलेक्ट्रिफिकेशन कार्पोरेशन जल्‍दी ही आने वाली हैं। इन दोनों सरकारी कंपनियों की आईपीओ में आंख मूंदकर निवेश किया जा सकता है। बिजली क्षेत्र के तेज विकास को देखते हुए एनटीपीसी, पावर फाइनेंस कार्पोरेशन और पीटीसी इंडिया के बाद इन दोनों कंपनियों में निवेश करने से नहीं चूके। हालांकि, शार्ट टर्म के अलावा जो निवेशक लांग टर्म का व्‍यू लेकर चलना चाहते हैं, वे भी इन कंपनियों के निवेश में खासी कमाई करेंगे।

पावर ग्रिड कार्पोरेशन लिमिटेड दस रुपए वाले 57.39 करोड़ शेयर जारी करेगी जिसके तहत ऊपरी प्राइस बैंक के मुताबिक 2984 करोड़ रुपए जुटाए जाएंगे। दस सितंबर को शत प्रतिशत बुक बिल्डिंग के तहत खुल रहे इस आईपीओ में प्राइस बैंड 42/52 रुपए तय की गई है। यह कंपनी इंटरस्‍टेट और इंटर रिजनल इलेक्ट्रिक पावर ट्रांसमिशन सिस्‍टम से जुड़ी हुई है। आईपीओ के बाद मिनी रत्‍न प्रथम ग्रेड इस कंपनी में सरकार की हिस्‍सेदारी 86.36 फीसदी रहेगी।

जबकि, रुरल इलेक्ट्रिफिकेशन कार्पोरेशन लिमिटेड दस रुपए वाले 15.61 करोड़ से अधिक शेयर आईपीओ के तहत जारी करेगी। यह कंपनी बिजली क्षेत्र में फाइनेंसिंग, प्रमोशन ऑफ ट्रांसमिशन, डिस्‍ट्रीब्‍यूशन, जनरेशन प्रोजेक्‍टस से जुड़ी हुई है। साथ ही राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना की नोडल एजेंसी है जिसके तहत देश के गांव गांव में बिजली पहुंचाई जा रही है। इस कंपनी को भी भारत सरकार ने मिनी रत्‍न ए ग्रेड का दर्जा दे रखा है। इस आईपीओ में 1200 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्‍य है।

2 comments:

Vinod Kumar Purohit said...

/धन्यवाद कमलजी! इस महत्वपूण सूचना के लिए। अब बाजार में प्रतिदिन सिर खपाने से तो अच्छा है आईपीआे के जरिए ही कुछ कमाया जाए। बिजली क्षेत्र में अपार संभावनाआें के कारण बहुत अवसर मोजूद है दीघार्विध वालों के लिए व अल्पसमय में निवेश करने वालों के लिए भी।

Vinod Kumar Purohit said...

http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/2318371.cms
कमलजी, इस उपर वाले लिंक से भी वाह मनी के पाठकों को कोई फायदे वाली बात हो तो विस्तृत रूप से बताने का कष्ट करें।