adsense

November 23, 2007

जेके लक्ष्‍मी सीमेंट एक उम्‍दा स्‍टॉक

उत्‍तर और पश्चिम भारत के सीमेंट बाजार में मजबूत खिलाड़ी जेके लक्ष्‍मी सीमेंट लिमिटेड एक बेहतर स्‍टॉक है। यह कंपनी जिस तरह प्रगति कर रही है उससे यह लगता है आने वाले दिनों में यह सीमेंट क्षेत्र का एक महंगा स्‍टॉक होगा। दलाल स्‍ट्रीट के पंटरों पर भरोसा करें तो अगले 15 दिनों के बाद सीमेंट शेयरों में खासा करंट दिख सकता है।

जेके लक्ष्‍मी सीमेंट की स्‍थापित क्षमता 34 लाख टन सालाना है। समय पर अपनी क्षमता का विस्‍तार करने की वजह से आने वाले दो साल में यह जबरदस्‍त ग्रोथ करेगी। कंपनी ने वर्ष 2009 की दूसरी छमाही तक अपनी क्षमता को बढ़ाकर 50 लाख टन करने की योजना बनाई है। चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी के उत्‍पादन में 40 फीसदी और बिक्री में 36 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है। इसी अवधि में 50 किलो के बैग का दाम तिमाही दर तिमाही 2.4 फीसदी बढ़कर 154 रुपए पहुंच गया है। बेहतर वोल्‍यूम और दामों को देखते हुए वर्ष दर वर्ष कंपनी की शुद्ध बिक्री 267 करोड़ रूपए पहुंच जाने का अनुमान है। यदि हम प्रति टन सीमेंट उत्‍पादन लागत की बात करें तो जेके लक्ष्‍मी सीमेंट की लागत दूसरी तिमाही में 4.6 फीसदी सालाना हिसाब से 202 करोड़ रुपए पहुंच गई है। जिसमें प्रति टन 27 फीसदी लागत परिवहन बढ़ना और 4.6 फीसदी प्रति टन कर्मचारी लागत बढ़ना है। हालांकि, कंपनी बिजली और ईंधन लागत को कम करने में कामयाब रही है। वर्ष 2007 की दूसरी तिमाही में यह लागत 704 रुपए प्रति टन थी जो अब 674 रुपए प्रति टन पर आ गई है।

कंपनी का 36 मेगावाट का निजी खपत का बिजली संयंत्र शुरू होने जा रहा है जिससे बिजली व ईधन लागत में और बचत होगी। कंपनी ने चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही में 267 करोड़ रूपए की बिक्री पर 74 करोड़ रूपए का शुद्ध लाभ कमाया है और तिमाही आधार पर प्रति शेयर आय यानी ईपीएस 12 रुपए रही है। जबकि वर्ष 2007 की दूसरी तिमाही में कंपनी की शुद्ध बिक्री 163 करोड़ रूपए थी और शुद्ध लाभ 23 करोड़ रुपए। प्रति शेयर आय 3.8 रुपए थी। कंपनी अपने महंगे कर्ज को अब सस्‍ते ब्‍याज वाले कर्ज में बदलने जा रही है।

कंपनी की सीमेंट के आकर्षक बाजारों में हाजिरी, समय पर अतिरिक्‍त क्षमता का बढ़ाना, ब्रांड की स्थिति में सुधार और संचालन में बेहतर होने से इस स्‍टॉक को ऑउटपरफार्मर कहा जा सकता है एवं निकट भविष्‍य में इसका भाव 210 रुपए तक जा सकता है। हालांकि, जो निवेशक इसे दो साल के लिए रखना चाहते हैं, उन्‍हें बेहतर कमाई होगी। जेके लक्ष्‍मी सीमेंट आज 184 रुपए पर बंद हुआ है। पिछले 52 सप्‍ताह में यह नीचे में 97 रुपए और ऊपर में 211 रुपए था।

3 comments:

राजीव जैन said...

राय के लिए शुक्रिया

आपकी सलाह है तो माननी ही होगी
वैसे अपन आपकी सलाह पर शिवा सीमेंट भी दबाकर बैठे हैं।

Jitendra Chaudhary said...

जे के लक्ष्मी तो बहुत उम्दा शेयर है। लेकिन भाई कुछ बातें तो ध्यान देनी पड़ेगी, कि इन्फ़्रास्ट्रक्चर ग्रोथ जिस एरिया मे हो रही है, उस एरिया की सीमेंट कम्पनियों को अच्छा खासा फायदा होगा। क्योंकि सीमेंट अक्सर लोकल लेवेल पर ही खरीदा जाता है। गुजरात, महाराष्ट्र, हैदराबाद, बैंगलौर और एनसीआर एरिया और उसके आसपास के एरिया मे स्थापित सीमेंट प्लांटो की बिक्री मे खासा इजाफ़ा हो सकता है। जाहिर है, इससे शेयरों मे भी खासा उछाल रहेगा।

कमल भाई, एक बात पूछनी थी, अल्ट्राटेक सीमेंट का शेयर कैसा है?(पहले ये एल एंड टी सीमेंट के नाम से था)

कमल शर्मा said...

शिवा सीमेंट में एसीसी ने रुचि दिखाई है और एसीसी ने इसके तकरीबन 14 फीसदी स्‍टॉक्‍स खरीदे हें। केवल इसी खबर के सहारे शिवा सीमेंट का स्‍टॉक चला है। यदि एसीसी की रुचि इसमें बनी रही तो यह लंबी अवधि में आपको बेहतर रिटर्न दे सकता है। दूसरा, अल्‍ट्राटेक सीमेट का शेयर अच्‍छा शेयर है। इसमें आप निवेश कर सकते हैं।