adsense

December 22, 2007

शेयर बाजार में गर्मजोशी नहीं

हितेंद्र वासुदेव
शेयर बाजार के तकनीकी चार्ट में पिछले कुछ महीनों से बन रही नरमी अब हावी है। हालांकि, बीएसई सेंसेक्‍स इसे मजबूती से अहमियत नहीं दे रहा है लेकिन वर्ष 2008 का नया सप्‍ताह इससे प्रभावित हो सकता है। बीएसई सेंसेक्‍स के 13 दिसंबर को 20498 अंक के ऊपरी स्‍तर पर जाने के बाद मंदी वाले जो बादल बने हैं उनसे शेयर बाजार में कमजोरी या करेक्‍शन की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। इसकी नतीजा है कि पिछले सप्‍ताह सेंसेक्‍स 4.41 फीसदी तक गिरा।

शेयर बाजार में पिछले कुछ हफ्तों में नकारात्‍मक रुझान के साथ ऐतिहासिक वॉल्‍यूम हुआ है। तगड़े कामकाज के साथ बाजार का ढुलमुल रहना यह संकेत देता है कि यह उसकी नई ऊंचाई का लांचिंग पेड बनेगा। अगले सप्‍ताह बीएसई सेंसेक्‍स के 20500-18100 के बीच घूमने के आसार हैं। पिछले सप्‍ताह सेंसेक्‍स 20032.67 अंक पर खुला और यही स्‍तर इसने सप्‍ताह की ऊंचाई के रुप में कायम रखा। यह गिरकर 18886.40 अंक तक आया और 19147.46 अंक पर बंद हुआ। शेयर बाजार का साप्‍ताहिक रुख नरमी का है लेकिन यह 20500 अंक से ऊपर बंद होता है तो स्थिति बदल सकती है।

अगले सप्‍ताह सेंसेक्‍स को स्‍पोर्ट 18800-18300 -18100 -17100 अंक पर मिलेगा। जबकि, रेसीसटेंस के स्‍तर 19900-20500 हैं। यदि सेंसेक्‍स गिरकर 18100 से नीचे बंद होता है तो यह गिरकर 17100 अंक तक जा सकता है। सेंसेक्‍स का दैनिक चार्ट यह बताता है कि इसने ट्रेंड लाइन को पकड़ रखा है। पिछले तीन कारोबारी दिवसों में यह लाइन 17171 और 18182 के नीचे से उठी है। सेंसेक्‍स इस ट्रेंड लाइन को कायम रखेगा और इसके आसपास घूमेगा। सेंसेक्‍स यहां से पहले की तरह ऊपर उठना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं होता है तो आने वाले दिनों में यह गिर सकता है। आमतौर पर हरेक बढ़त पर बिकवाली दबाव देखा जाता है। शेयर बाजार में लंबी पोजीशन पर लाभ या हानि में निकल जाए जब तक कि सेंसेक्‍स 20500 से ऊपर दिखाई नहीं देता।

1 comment:

sarvesh... said...

sir,
2008 me share bazar kitna falega-fulega, ish bare me bhi kuchh likhiye...!