adsense

January 03, 2008

केशोराम इंडस्‍ट्रीज में बाकी है कमाई

birla बसंत कुमार बिड़ला समूह की कंपनी केशोराम  इंडस्‍ट्रीज का शेयर आज 3 जनवरी 2008 को 595 रुपए पर बंद हुआ है लेकिन अभी भी इसमें विपुल संभावनाएं हैं और यह निश्‍चित रुप से बढ़ेगा। हालांकि, 5 अप्रैल 2007 को इसका भाव 295 रुपए था जो 11 दिसंबर 2007 को 675 रुपए पहुंच गया। केशोराम इंडस्‍ट्रीज के कार्य प्रदर्शन को देखते हुए मध्‍यम अवधि में इसका शेयर 750 रुपए की ऊंचाई पर पहुंच सकता है। इसका बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज में कोड 502937 है।

केशोराम इंडस्‍ट्रीज सीमेंट, ऑटोमोबाइल टायर एवं टयूब, विस्‍कॉस फिलामेंट यार्न एवं ट्रांसपरेंट पेपर, हैवी केमिकल्‍स, कॉस्टिक सोडा, हाइड्रोक्‍लोरिक एसिड, स्‍पन पाइप्‍स और रिफ्रैक्‍टरीज के उत्‍पादन से जुड़ी हुई है। कंपनी की एक डिवीजन केशोराम रेयॉन का पश्चिम बंगाल के नयासारी में रेयॉन संयंत्र है जिसकी स्‍थापित क्षमता साढ़े छह टन सालाना है। इस संयंत्र में 3600 टन सालाना सेलोफेन पेपर, 3600 टन सालाना कार्बन-ड‍ी-सलफाइड और 36500 टन सालाना सलफ्यूरिक एसिड का उत्‍पादन किया जाता है। केशोराम की सीमेंट ब्रांड बिड़ला शक्ति है, जबकि टायर बिड़ला टायर्स के नाम से बिकते हैं।

केशोराम इंडस्‍ट्रीज की बिक्री 30 सितंबर 2007 को समाप्‍त तिमाही में 776.24 करोड़ रुपए थी और कुल आय 782.89 करोड़ रुपए रही। शुद्ध लाभ 89.46 करोड़ रुपए रहा। जबकि, 30 जून 2007 को समाप्‍त तिमाही में इसकी बिक्री 669.99 करोड़ रुपए और कुल आय 679.28 करोड़ रुपए रही। शुद्ध मुनाफा 80.68 करोड़ रुपए था। कंपनी की कुल इक्विटी 45.74 करोड़ रुपए है। इसका बाजार पूंजीकरण 2799.49 करोड़ रुपए है। बुक वेल्‍यू की बात की जाए तो वह 178.83 रुपए और पीई 8.87 है।

कंपनी की शेयरधारिता देखें तो प्रमोटरों के पास 21.87 फीसदी शेयर है, जबकि विदेशी संस्‍थागत निवेशकों के पास 9.07 फीसदी, अन्‍य के पास 55.53 फीसदी शेयर हैं। आम जनता के पास केशोराम इंडस्‍ट्रीज के केवल 13.23 फीसदी शेयर हैं। देश की अर्थव्‍यवस्‍था जिस गति से विकास कर रही है, ऐसे में विविध उत्‍पादों वाली केशोराम इंडस्‍ट्रीज का भविष्‍य बेहतर लग रहा है। ढांचागत विकास मसलन पूल, बांध, टाउनशीप, सेज के साथ सड़क परिवहन का विकास केशोराम की सीमेंट और टायर बिक्री को बढ़ाएगा इसमें कोई दो राय नहीं। कंपनी ने अपनी विभिन्‍न उत्‍पादन क्षमताओं को बढ़ाने के लिए विशाल पूंजीगत निवेश की योजना बनाई है जिसके फल आने वाले दिनों में निवेशकों को मिलेंगे।

No comments: