adsense

February 18, 2008

आरईसी का आईपीओ है निवेश लायक

power सरकारी कंपनी रुरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉर्पोरेशन 19 फरवरी को पूंजी बाजार में उतरने जा रही है। कंपनी इस आईपीओ के माध्‍यम से 1405-1639 करोड़ रुपए जुटाएगी। कुल 15.6 करोड़ इक्विटी शेयर 90 से 105 रुपए की प्राइस बैंड पर ऑफर किए जाएंगे। यह आईपीओ 22 फरवरी को बंद होगा। कंपनी अपने पूंजी आधार को बढ़ाने और भविष्‍य की जरुरतों को पूरा करने के लिए यह आईपीओ ला रही है।

रुरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉर्पोरेशन यानी आरईसी बिजली क्षेत्र की दो बड़ी वित्‍तीय संस्‍थाओं में से एक है। आरईसी के अलावा पावर फाइनेंस कंपनी यानी पीएफसी देश में बिजली परियोजनाओं के विकास में वित्‍त और सलाहकार सेवा देती हैं। इस कंपनी की स्‍थापना का मुख्‍य उद्देश्‍य गांवों में बिजली इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के विकास में मदद करना है। इसमें ट्रांसमिशन और डिस्‍ट्रीब्‍यूशन नेटवर्क मुख्‍य है। इस कंपनी की एसेट बेस 38700 करोड़ रुपए है और उसकी बुक वेल्‍यू प्रति शेयर 53 रुपए है। राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना पर अमल की जिम्‍मेदारी आरईसी के जिम्‍मे है। ग्‍यारहवीं पंचवर्षीय योजना के तहत इस योजना के लिए 40 हजार करोड़ रुपए आबंटित किए जाएंगे। इस वजह से आरईसी के पास कोष बढ़ने की संभावना है।

वर्ष 2007/08 की पहली छमाही में आरईसी की ब्‍याज आवक 30 फीसदी बढ़कर 1561 करोड़ रुपए रही, जबकि अन्‍य आवक 230.5 करोड़ रुपए थी। जबकि ब्‍याज खर्च 965 करोड़ रुपए रहा। कंपनी का इस अवधि में शुद्ध लाभ 522.9 करोड़ रुपए पहुंच गया। यह शुद्ध लाभ पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 81.1 फीसदी अधिक है। निवेशक इस कंपनी में कट ऑफ पर निवेश कर सकते हैं।

4 comments:

Vinod Kumar Purohit said...

कमलजी हम छोटे निवेशकों हेतु रात 1100 बजे बाद भी जागकर दिन भर के परिश्रम के बाद भी योग्य निवेश हेतु निस्वार्थ सलाह हेतु हम शुभकामना के अतिरिक्त दे ही क्या सकते है। वैसे आपने महीनों पहले ही बता दिया था कि इसमें निवेश करना है। अब जब लोग आर पावर से डरे हुए है इसमें निवेश करने से अच्छे शेयर भी हाथ आयेंगे व मुनाफा होगा। धन्यवाद।

आशीष said...

वाह मनी को अब समाज सेवा का ही एक भाग मान लेना चाहिए

अविनाश वाचस्पति said...

निवेशक इस कंपनी में कट ऑफ पर निवेश कर सकते हैं।

कट ऑफ का अर्थ बतलाइयेगा.

Anonymous said...

आपका मालदार कईंयों का पेंट गिला करता होगा बॉस