adsense

February 25, 2008

शेयर बाजार में बड़ी हलचल संभव

भारतीय शेयर बाजार में इस सप्‍ताह बड़ी हलचल रहने की पूरी पूरी संभावना है क्‍योंकि 25 फरवरी से शुरु हो रहे सप्‍ताह में रेल बजट, आर्थिक सर्वे और आम बजट पेश होगा। इस सप्‍ताह शेयर बाजार के खिलाडि़यों का पूरा ध्‍यान नई दिल्‍ली की ओर लगा रहेगा कि वहां से किस तरह की घोषणाएं होती हैं। मौजूदा केंद्र सरकार का यह आखिरी आम बजट है, जिसमें लोक लुभावन वादे होने की अधिक संभावना है ताकि अगले आम चुनाव में जीत हासिल की जा सके।

भारतीय शेयर बाजार पर इस सप्‍ताह नई दिल्‍ली में होने वाली घोषणाओं का असर दिखाई देगा लेकिन हमारे शेयर बाजार काफी समय से अमरीकी और एशियाई शेयर बाजारों का अनुसरण कर रहे हैं जिससे यहां घोषित होने वाली सकारात्‍मक घोषणाओं का कुछ समय तो असर रह सकता है लेकिन सारी चाल अमरीकी एवं एशियाई बाजारों के रुझान पर निर्भर करेगी।

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी बीएसई सेंसेक्‍स के इस सप्‍ताह 18180 से 16647 और निफ्टी के 5348 से 4905 अंक के बीच घूमते रहने की संभावना अधिक है। तकनीकी विश्‍लेषक हितेंद्र वासुदेव का कहना है कि बीएसई सेंसेक्‍स के लिए इस सप्‍ताह 18274-18509 का रेसीसटेंस अहम है। यदि बाजार इस स्‍तर को पार कर जाता है तो सुधार के संकेत दिखाई देंगे अन्‍यथा शेयर बाजार को किसी चमत्‍कार की जरुरत रहेगी। सेंसेक्‍स पिछले सप्‍ताह भी इस स्‍तर को पार करने में विफल रहा ओर 801 अंक की गिरावट देखने को मिली थी।

वित्‍त मंत्री पी. चिदम्‍बरम के लिए वित्‍त वर्ष 2008-09 के लिए आम बजट पेश करना काफी चुनौती भरा है। आठ राज्‍यों में विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव का ख्‍याल रखते हुए मुद्रास्‍फीति पर काबू एवं नौ फीसदी की विकास दर को बनाए रखना उनके लिए खास चुनौतियां हैं। मतदाताओं को लुभाने के इस बजट प्रयास में अनेक ऐसी नकारात्‍मक घोषणाएं भी आ सकती हैं जिनसे बाजार का मूड बिगड़ सकता है। ऐसे में निवेशक यह साफ जान लें कि शेयर बाजार इस सप्‍ताह एक तरफा चाल नहीं चलेगा। बजट के साथ डेरीवेटिव्‍ज सैटलमेंट का सप्‍ताह होने से शेयर बाजार में काफी उतार चढ़ाव देखने को मिल सकता है। ऐसे में निवेशक काफी सावधानी से कारोबार करें। शेयर बाजार को सिक्‍युरिटीज ट्रांजेक्‍शन टैक्‍स, आयकर, कैपिटल गेन्‍स टैक्‍स में राहत, लाभांश कर संबंधी प्रावधान और विदेशी संस्‍थागत निवेशकों के संबंध में होने वाली घोषणाओं का इंतजार है।

इस सप्‍ताह एचडीएफसी बैंक, सेंचुरियन बैंक ऑफ पंजाब, जिंदल स्‍टील, पार्ले सॉफ्टवेयर और सीमेंस की ताजा घोषणाओं पर नजर रहेगी। शेयर बाजार में फ्रंटरनर की भूमिका में, एल एंड टी, मारुति सुजुकी, एचडीएफसी रहेंगे। इसके अलावा एनटीपीसी, एलआईसी हाउसिंग, फुलफोर्ड इंडिया, हीरो होंडा, थ्री एम इंडिया, वोल्‍टास, पीएसएल, सेसा गोवा, एबीजी शीपयार्ड, मैक्‍नली भारत, कॉम्‍युलिंक सिस्‍टम और अपार इंडस्‍ट्रीज के शेयरों पर निवेशक ध्‍यान दे सकते हैं।