adsense

February 08, 2008

रिलायंस पावर पर नजर !

anil भारतीय शेयर बाजार के लिए अगले सप्‍ताह का पहला सोमवार यानी 11 फरवरी 2008 खास होगा। शेयर बाजार ज्‍योंहि सुबह 9 बजकर 55 मिनट पर खुलेगा, सभी की नजरें इस पर लगी होंगी कि अनिल अंबानी समूह की कंपनी रिलायंस पावर की लिस्टिंग किस भाव पर होती है।

रिलायंस पावर का जब पब्लिक इश्‍यू खुला हुआ था तब इसके हर शेयर का प्रीमियम 400 से 450 रुपए बोला जा रहा था। लेकिन, पब्लिक इश्‍यू बंद होने के बाद शेयर बाजार को जोरदार ग्रहण लगा और आज यह प्रीमियम घटकर 125 से 150 रुपए तक सिमट कर रह गया है। शेयर बाजार विश्‍लेषक कहते हैं कि हमें अब रिलायंस पावर के 125 से 150 रुपए प्रीमियम पर लिस्‍ट होने के आसार दिख रहे हैं और हर निवेशक को इसका लाभ उठाते हुए मुनाफा वसूली कर लेनी चाहिए। शेयर बाजार की स्थिति में खास सुधार नहीं होता और रिलायंस पावर का शेयर यदि 450 रुपए से नीचे जाता है तो इसे फिर से खरीदा जा सकता है। लेकिन पहला काम मुनाफा वसूली का होना चाहिए।

के आर चौकसी सिक्‍युरिटीज के आर एस अय्यर का कहना है कि रिलायंस पावर के 450 से 500 रुपए के आसपास लिस्टिंग होने की संभावना है। यह संभावना शेयर बाजार की खराब मूड और कम वोल्‍यूम को देखते हुए है। लेकिन इश्‍यू प्राइस से नीचे पर बेचने के लिए जल्‍दबाजी नहीं करनी चाहिए एवं बेहतर दाम के लिए इंतजार करना चाहिए। वे कहते हैं कि निकट भविष्‍य में इसका भाव 650 रुपए तक जा सकता है लेकिन इस सोमवार को नहीं।

बाजार की चर्चा पर भरोसा करें तो यदि रिलायंस पावर का शेयर सोमवार को छह सौ रुपए पर लिस्‍ट होता है तो एचएनआई कैटेगरी की इसमें बड़ी बिकवाली निकल सकती है। इस कैटेगरी के पास रिलायंस पावर के 2.28 करोड़ के करीब शेयर हैं। इस वर्ग के अधिकतर निवेशक मार्जिन फंडिंग वाले हैं और वे शुद्ध रुप से कारोबारी दृष्टिकोण अपनाएंगे।

रिलायंस पावर में रिटेल निवेशकों के पास 6.84 करोड़ शेयर हैं और बेहतर लिस्टिंग की दशा में यह वर्ग भी मुनाफा वसूली करना चाहेगा। अब बात करें क्‍यूआईबी यानी क्‍वालिफाइड इंस्‍टीट्यूशनल बॉडीज निवेशकों की तो वे सबसे ज्‍यादा चतुर होते हैं और जिस तरफ हवा बह रही होती है, उसी तरफ चल देते हैं। निवेश के समय इन्‍हें प्रति शेयर केवल 45 रुपए देने पड़े थे और ब्‍याज लागत 27 रुपए प्रति शेयर को जोड़ लें तो छह सौ रुपए की लिस्टिंग पर सबसे पहले मुनाफा काटने के लिए ये निवेशक ही दौड़ेंगे। इस तरह सोमवार को रिलायंस पावर के पांच करोड़ शेयर बिकने के लिए आ सकते हैं। रिलायंस पावर में मुनाफा वसूली के बाद 550 रुपए से ऊंचे भाव पर फिर से खरीद नहीं करनी चाहिए और कुछ दिन इंतजार करना उचित रहेगा क्‍योंकि इसमें खासी चंचलता दिख सकती है।

गौरतलब है कि रिलायंस पावर ने अपने इश्‍यू का भाव 450 रुपए प्रति शेयर तय किया था और 45 लाख शेयरधारियों के साथ लिस्टिंग होने वाले यह सबसे बड़ी शेयर होल्‍डर बेस कंपनी है। इसका इश्‍यू 70 गुना सब्‍सक्राइब्‍ड हुआ।

2 comments:

अविनाश वाचस्पति said...

ध्यान रखेंगे
ध्यान रखना चाहिये
ध्यान दें
ध्यान देना चाहिये
जान लें
मान लेना चाहिये

Pankaj Bharati said...

गुरु... रिलायंस पावर में 550 रुपए से 600 रुपए के स्तर पर भी लेवाली की जा सकती है। और जिसे यह शेयर आईपीओ में प्राप्त हुआ है उसे तो जल्दबाजी में इसे बेचना ही नहीं चाहीए क्योंकि सभी जानते है कि आने वाले समय में इसका भाव 1000रुपए के आसपास दिखाई दे सकता है....धूर्त व चालाक कारोबारियों की बातों में आकर अपना नुकसान कदापि ना करें।....सावधान