adsense

April 24, 2008

चीनी शेयरों में बढ़ रही मिठास

चीनी कंपनियों के लिए अगला सीजन बेहतर होने की आस में संस्थागत निवेशक चीनी से जुड़ी बड़ी कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ा रहे हैं। सरकार ने चीनी उद्योग के भले के लिए जिस तरह कदम उठाने की मंशा दिखाई है, उससे तो यही लगता है। चीनी का उत्‍पादन घटने का अनुमान और चीनी उद्योग के भले के लिए उठने वाले कदमों के बल पर चीनी कंपनियों के शेयरों में पिछले एक महीने में बेहतर बढ़ोतरी देखने को मिली है।

देश में इस साल चीनी का उत्‍पादन 250-260 लाख टन होने का अनुमान है जो पिछले साल 284 लाख टन था। गन्‍ने की घटती खेती से यह आंका जा रहा है कि अब अगले सीजन में चीनी का उत्‍पादन 210-220 लाख टन रह जाएगा। गन्ने के भुगतान में होने वाली देरी की वजह से किसान अब गन्‍ने की बोआई को घटा रहे हैं। साथ ही धान व गेहूं के समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की वजह से भी किसान गन्‍ने से मुंह मोड़ रहे हैं। चीनी मिल मालिकों ने पिछले साल गन्ने का पैसा देने में काफी देरी कर दी थी। ऐसा इसलिए हुआ था कि गन्ने के दाम ऊंचे थे और चीनी के नीचे।

अब किसानों के गन्‍ने की फसल से मुंह मोड़ने की वजह से चीनी के दाम धीरे धीरे बढ़ रहे हैं। उत्तर प्रदेश में चीनी का फैक्‍टरी दाम 1500 रुपए क्विंटल है। अक्‍टूबर से अब तक यह दाम नौ से दस फीसदी तक बढ़ चुके हैं। अगर गन्‍ने के उत्पादन में वाकई कमी आती है तो चीनी को और मजबूती मिलेगी।

क्रूड के बढ़ते दामों से परेशान सरकार ने भी अगले अक्‍टूबर से पेट्रोल में दस फीसदी एथनॉल मिलाने को हरी झंडी दिखा दी है। इस समय पांच फीसदी एथनॉल पेट्रोल में मिलाया जाता है। इससे चीनी कंपनियों की आय स्‍थाई होगी। जिन चीनी कंपनियों की ओर निवेशकों का रुझान इसकी बढ़ने वाली मिठास को लेकर बढ़ रहा है उनमें बजाज हिंदुस्‍तान, रेणुका शुगर, बलरामपुर चीनी और त्रिवेणी इंजीनियरिंग मुख्‍य है।

चीनी शेयरों में बड़े निवेशकों की बढ़ती रुचि इनके भावों में पिछले एक महीने में आई बढ़ोतरी से साफ पता चलता है। यदि इस बढ़ोतरी को देखा जाए तो निवेशकों को चीनी शेयरों में हो रही हलचल पर नजर रखनी चाहिए और हर गिरावट पर बेहतर चीनी शेयर की खरीद की जा सकती है।

बाम्बे स्टॉक एक्सचेंज में बजाज हिंदुस्‍तान का शेयर आज यानी 24 अप्रैल 2008 को 231.85 रुपए पर बंद हुआ, जो 24 मार्च 2008 को 166.40 रुपए पर बंद हुआ था। इसी तरह बलरामपुर चीनी का शेयर आज 99.35 रुपए पर बंद हुआ, जो एक महीने पहले 71.95 रुपए पर मिल रहा था। त्रिवेणी इंजीनियरिंग का शेयर एक महीने पहले 94.15 रुपए था, जो आज 115.25 रुपए आ पहुंचा। श्रीरेणुका शुगर्स का शेयर आज 122.25 रुपए पर बंद हुआ, जो एक महीने पहले 88.02 रुपए था।

धामपुर शुगर का शेयर आज 63.45 रुपए पर बंद हुआ, जो एक महीने पहले 41.85 रुपए था। अपर गंगेज शुगर 64.30 रुपए की तुलना में आज 98.20 रुपए पर जा पहुंचा। ईआईडी पेरी का शेयर आज 215.20 रुपए पर बंद हुआ, जो एक महीने पहले बीएसई में 162.85 रुपए पर मिल रहा था। बन्‍नारीअमान शुगर्स का शेयर 798.20 रुपए से बढ़कर 830 रुपए पहुंच गया।

1 comment:

अतुल said...

बिहार के चीनी मिल तो बद पडे है. उनका भी खुलना जरूरी है.