adsense

June 29, 2014

प्री बजट रैली की उम्मीद पर हावी हुआ कमजोर मानसून

भारतीय शेयर बाजार में लगातार तीसरे सप्ताह सुस्ती के बीच हल्की कमजोरी देखी गई। बाजार बजट में नई सरकार से काफी उम्मीद लगाए बैठा है, जिससे बाजार में बजट के पहले एक अच्छी तेजी आ सकती है, लेकिन इस उम्मीद के बीच निवेशकों को कमजोर मानसून और इराक में बढ़ते सकंट की चिंता सताने लगी है क्योंकि इन दोनों कारणों से भारतीय अर्थव्यवस्था गडबडा सकती है।

गत सप्ताह की बात करें तो बाजार में एक छोटी रेंज में भारी उठापटक के साथ कारोबार हुआ। गैस कीमत बढ़ाने के निर्णय को टालने से ऑयल एंड गैस सैक्टर में शुरुआती तेजी के बाद तेज गिरावट देखने को मिली। वहीं दूसरी तरफ ऑटोमोबाइल सैक्टर में एक्साइज ड्यूटी में छूट को जारी रखने के फैसले से ऑटोमोबाइल कंपनियों के शेयरों में अच्छी तेजी देखने को मिली। जहां बजाज ऑटो निफ़्टी में 6 फीसदी की साप्ताहिक बढ़त के साथ सबसे ऊपर था। इसके आलावा बाजार में सुस्ती के बीच डिफेंसिव फार्मा और आईटी सैक्टर में अच्छी मजबूती देखी गई।                

इस सप्ताह के मुख्य घटक:  
·  जुलाई माह के शुरुआत में मानसून की स्थिति एवं इराक संकट के हालात। 
·  मंगलवार से ऑटो कंपनियां अपनी बिक्री के आंकड़े जारी करेंगी।
·  मंगलवार को भारत के एचएसबीसी मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई आंकड़े एवं  
·  गुरुवार को भारत के एचएसबीसी सर्विस पीएमआई आंकड़े जारी होंगे।      

टेक्निकल आउटलुक:  स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के इक्विटी विश्‍लेषक संतोष मीणा का कहना है कि  निफ्टी को टेक्निकली 7480 निकटतम और मजबूत सपोर्ट है। इसके नीचे फिसलने पर 7400 पर अगला मुख्य सपोर्ट रहेगा, इसके नीचे जाने पर ही बाजार में कमजोरी की आंशका दिखती है। वहीं ऊपर की ओर अगर निफ्टी 7600 पार करने में कामयाब हो जाता है तो बाजार में लंबी तेजी की उम्मीद बनती है और बजट तक निफ्टी में 7850 तक का स्तर भी देखा जा सकता है। जो निफ्टी के लिए सबसे मजबूत रेजिस्टेंस का काम करेगा। 
        
इन पर रखें नजर : बाजार में मजबूती रही तो पॉवर और इंफ्रा सैक्टर में अच्छी तेजी देखने को मिल सकती है। जहां टेक्निकल चार्ट पर पॉवरग्रिड और एलएंडटी के शेयर तेजी के संकेत दे रहे हैं। इसके आलावा मिडकैप और और स्मालकैप सैक्टर में भी तेजी बरकरार रह सकती है। मिडकैप शेयर में टाटा एलेक्‍सी के शेयर में लंबी तेजी की उम्मीद बन रही है इसका मौजूदा भाव 615 है।   


No comments: