adsense

February 08, 2015

दलाल स्‍ट्रीट की नजर दिल्‍ली चुनाव नतीजों पर

मुंबई। भारतीय शेयर बाजार बड़ी तेजी के बाद ऊपरी स्तरों पर थकते नजर आए और गत सप्ताह में हर दिन बाजार में गिरावट का रुख देखा गया। ज्यादातर बैंकों और दूसरी दिग्गज कंपनियों के खराब नतीजे, दिल्ली चुनाव नतीजों पर असमंजस, ग्रीस संकट की चिंता एवं कच्चे तेल की कीमतों में उठापटक बाजार में गिरावट का मुख्य कारण रहे। सप्ताह के अंत में  सेंसेक्स और निफ्टी 1.5 फीसदी से ज्यादा साप्ताहिक गिरावट के साथ क्रमश: 28718/8661 के स्तर पर पर बंद हुए।
इस सप्ताह के प्रमुख घटक: मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होंगे। अगर दिल्ली में भी बीजेपी की सरकार बनती है तो बाजार में उत्साह का माहौल देखने को मिल सकता है। आर्थिक आकंड़ों की बात की जाए तो सोमवार को सरकार 2014-15 के लिए जीडीपी  जारी करेगी। इसके अलावा गुरुवार को आईआईपी और खुदरा महंगाई दर के आंकड़े भी जारी होंगे। बजट के पहले एफआईआई की चाल एक मुख्य घटक होगी क्योंकि पिछले सप्ताह उनके द्वारा बिकवाली देखने को मिली है,  हालाँकि यह ज्यादा नही थी। इसके अलावा विदेशी बाज़ारो की स्थिति एवं कच्चे तेल की चाल अन्य प्रमुख घटक रहेंगे।
इस सप्ताह के प्रमुख तिमाही नतीजे: सोमवार: एलएंडटी, डीएलएफ। मंगलवार: एबीबी, आदित्य बिड़ला नुवो, कैडिला हेल्थकेयर। गुरुवार: भेल, सिप्ला, कोल इंडिया, हिंडालको, ओएनजीसी। शुक्रवार: एसबीआई, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, एचपीसीएल, आईओसी।
टेक्निकल आउटलुक: स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के वरिष्‍ठ इक्विटी विश्‍लेषक संतोष मीणा का कहना है कि निफ्टी अपने 8640-8620 के मजबूत सपोर्ट क्षेत्र के पास ट्रेड कर रहा है। इसके ऊपर बने रहने पर बाजार फिर से तेजी पकड़ सकता है, जहां ऊपर की ओर 8840/9000 रेजिस्टेंस का काम करेंगे, लेकिन 8620 के नीचे फिसलने पर बाजार में गिरावट गहरा सकती है, जहां 8450 तक के स्तर भी देखने को मिल सकते है।
किन पर रखे नजर: टेक्निकल चार्ट पर गेल के चार्ट में कमजोरी नजर आ रही है। इसमें हमे 390 तक का स्तर भी देखने को मिल सकता है।  वही एचडीएफसी के चार्ट पर मजबूती नजर आ रही है। इसमें 1380 तक का स्तर देखा जा सकता है।

No comments: