adsense

July 21, 2015

सोना-चांदी बड़ी गिरावट की ओर

 सोने-चांदी की कीमतों में पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान गिरावट देखी गई और ओवरआल नकारात्मक संकेतों की वजह से दोनों कीमती धातुएं आगे एक बड़ी गिरावट की ओर अग्रसर हो रहीं हैं । कमोडिटी एक्सचेंज एमसीएक्स में गत सप्ताह अगस्त वायदा सोना 560 रुपए ( 2.15 फीसदी) की साप्ताहिक गिरावट के साथ 25498 रुपए प्रति दसग्राम पर बंद हुआ । वहीं सितंबर वायदा चांदी 1415 रुपए (3.97 फीसदी) साप्ताहिक गिरकर 34200 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुई ।

स्थानीय हाजिर बाजार में शनिवार को 24 कैरेट सोना 25800 रुपए प्रति दसग्राम और चांदी 34550 रुपए प्रति किलोग्राम पर कारोबार कर रही थी। अंतरराष्‍ट्रीय  बाजार में सोने में 28.33 डॉलर (2.44 फीसदी) एवं चांदी में 0.71 डॉलर ( 4.56 फीसदी) की साप्ताहिक गिरावट देखी गई । दोनों क्रमशः 1134.32 एवं 14.85 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुए।

फंडामेंटल : पिछले सप्ताह के सारे आर्थिक आंकड़े सोने-चांदी के लिए मिले जुले रहे । लेकिन फ़ेडरल रिज़र्व बैंक की अध्यक्षा जैनेट येलेन द्वारा अमरीकी ब्याज दरों में जल्द ही बढ़ोतरी के संकेत की वजह से सोने-चांदी में गिरावट देखने को मिली और यह गिरावट आगे भी जारी रहने की आशंका है।

टेक्निकल : स्‍वस्तिक इनवेस्‍टमार्ट, इंदौर के वरिष्‍ठ कमोडिटी विश्‍लेषक अमित खरे का कहना है कि सोने-चांदी की कीमतों में जबरदस्त  सेलिंग प्रेशर नजर आ रहा है । एमसीएक्स में अगस्त वायदा सोने के लिए 25760/25900 रुपए के ऊपरी स्तर महत्वपूर्ण रेजिस्टेंस का काम करेंगे । लेकिन सोना अभी अपने महत्वपूर्ण सपोर्ट 25500 रुपए के नीचे ट्रेड कर रहा है अतः इसके लिए 25150 रुपए का निचला स्तर अगले सपोर्ट का काम करेगा । 25150 रुपए के नीचे फिसलने पर सोने में 24830/24670 रुपए तक के निकले स्तर देखने को मिल सकते हैं ।

इसी प्रकार सितंबर वायदा चांदी के लिए 34550/34900 रुपए के ऊपरी स्तर महत्वपूर्ण रेजिस्टेंस रहेंगे । लेकिन चांदी अगर 33490 रुपए का अपना महत्वपूर्ण सपोर्ट तोड़ती है तो यह 32900/30700 रुपए तक के निचले स्तर भी दिखा सकती है । निवेशकों को महत्वपूर्ण टेक्निकल स्तरों को ध्यान में रखकर ट्रेड करना चाहिए ।

इस सप्ताह के मुख्य घटक : इस सप्ताह अमरीका के महत्वपूर्ण आर्थिक आंकड़ों पर भी निवेशकों को नजर रखनी चाहिए।  जिनमें बुधवार के एक्सिस्टिंग होम सेल्स, गुरुवार के अनएम्प्लॉयमेंट क्लैम एवं शुक्रवार के न्यू होम सेल्स के आंकड़े प्रमुख हैं ।

No comments: