adsense

May 27, 2008

फर्टिलाइजर शेयरों में चमक

देश में फर्टिलाइजर सब्सिडी चालू वित्त वर्ष में दुगुनी से ज्‍यादा दिए जाने से आज फर्टिलाइजर शेयरों में तेजी देखी गई। चालू वित्त वर्ष में फर्टिलाइजर सब्सिडी 950 अरब रुपए दिए जाने का अनुमान है जो बीते वित्त वर्ष 2007-08 में 403 अरब रुपए थी। इस सब्सिडी की वजह से फर्टिलाइजर कंपनियों को नियंत्रित भाव पर फर्टिलाइजर बेचने से होने वाले नुकसान की भरपाई होती है।

गौरतलब है कि देश में फर्टिलाइजर के दाम सरकार से नियंत्रित हैं और इस वजह से कंपनियों को होने वाली हानि की भरपाई सब्सिडी से होती है। उद्योग जगत की मानें तो सब्सिडी इस साल अधिक दिए जाने की वजह अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में फर्टिलाइजर के दाम बढ़ना है और यह दबाव घरेलू कंपनियों पर भी देखा जा रहा है जिनकी लागत बढ़ी है। यूरिया के दाम अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में 600 डॉलर प्रति टन पहुंच गए हैं जो पहले 200 डॉलर प्रति टन थे। इसी तरह डायमोनियम फास्‍फेट्स यानी डीएपी के दाम 207 डॉलर से 1270 डॉलर प्रति टन पहुंच गए।

इस साल देश में 65 लाख टन डीएपी का आयात होने की संभावना है जो पिछले साल 29 लाख टन था। सरकार ने अब देश में फर्टिलाइजर की लागत घटाने के लिए संयंत्रों को नाप्‍था के बजाय गैस आधारित में बदलने के लिए कमर कसी है।

फर्टिलाइजर सब्सिडी दुगुनी दिए जाने की संभावना से आज फर्टिलाइजर शेयरों में चमक दिखाई दी। चंबल फर्टिलाइजर आज 76.40 रुपए पर बंद हुआ जो कल 26 मई 2008 को 71.50 रुपए पर बंद हुआ था। राष्‍ट्रीय कैमिकल फर्टिलाइजर 67.20 रुपए से 67.90 रुपए पहुंचा। नागार्जुन फर्टिलाइजर 44.50 रुपए से 45.55 रुपए पर बंद हुआ। नेशनल फर्टिलाइजर 45.80 रुपए से बढ़कर 47.50 रुपए पर बंद हुआ। इसी तरह, टाटा कैमिकल 371.85 रुपए से 378.85 रुपए पहुंच गया। मोलतोल डॉट इन से साभार।

May 26, 2008

निवेशक तैयार रहें प्रतिकूल स्थिति के लिए


भारतीय शेयर बाजार की अगली चाल क्रूड, डॉलर और मानसून पर निर्भर रहने की बात हमने पिछले सप्‍ताह कही थी और अभी भी ये कारक ही बाजार पर हावी हैं। इस बीच, कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी की जीत ने लोकसभा चुनाव जल्‍दी होने की अटकलों पर विराम लगा दिया है। लेकिन भाजपा के लिए दक्षिण के खुले द्धार का शेयर बाजार पर भी असर दिखाई देगा। अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में क्रूड के दाम 135 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गए हैं जो यह संकेत देते हैं बाजार गोल्‍डमैन शैश की उस भविष्‍यवाणी की ओर बढ़ रहा है जहां उसने क्रूड के दाम 141 से 200 डॉलर प्रति बैरल पहुंचने की बात कही थी। यदि ऐसा हुआ तो शेयर बाजार सहित समूची अर्थव्‍यवस्‍था पर प्रतिकूल असर देखने के लिए निवेशकों को तैयार रहना होगा।

क्रूड के बढ़ते दाम से समूची दुनिया के शेयर बाजार इस समय एक बार फिर मंदी की चपेट में आ गए हैं। बीच बीच में आने वाली गर्मी स्‍थाई नहीं बन पा रही है जिसकी वजह से इस समय शेयर बाजार की दिशा भ्रामक है। ऐसी स्थिति में निवेशकों को लंबी अवधि के निवेश के बजाय बेहद छोटी अवधि या दैनिक कारोबार पर ध्‍यान देना चाहिए। लंबी अवधि के निवेश के लिए लोकसभा चुनाव की घोषणा तक इंतजार करें क्‍योंकि आम चुनाव की घोषणा शेयर बाजार को ठंडा करेंगी और वह समय लंबी से मध्‍यम अवधि के निवेश के लिए बेहतर है। केंद्र में अगली सरकार चाहे जिस दल की बनें, अर्थव्‍यवस्‍था के मोर्चे पर उसे कमर कसकर मेहनत करनी होगी। इस समय केंद्र सरकार, योजना आयोग से लेकर फिक्‍की, सीएमआईई तक यह मानकर चल रहे हैं मौजूदा कठिन हालत के बावजूद देश की आर्थिक विकास दर 8 से 9 फीसदी रहेगी।

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी बीएसई सेंसेक्‍स 26 मई से शुरु हो रहे सप्‍ताह में 17065 अंक से ऊपर बंद होने पर 17388 अंक तक जा सकता है। जबकि नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी एनएसई का निफ्टी 4832 अंक से ऊपर बंद होने पर 5188 अंक तक जा सकता है। निफ्टी का पिछले सप्‍ताह पांच हजार अंक का टूटा मनोवैज्ञानिक स्‍तर काफी अहम है। यदि निफ्टी इस स्‍तर को पार कर टिका रहता है तो बाजार की स्थिति मजबूत होगी।

तकनीकी विश्‍लेषक हितेंद्र वासुदेव का कहना है कि शेयर बाजार में साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 16880-17135-17434-17735 पर देखने को मिलेगा। साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 16481 पर होगा। दैनिक चार्ट पर सेंसेक्‍स ने 14677 और 15321 पर बनी ट्रेंड लाइन को तोड़ा है। इससे पहले सेंसेक्‍स को नीचे में 16546 अंक पर स्‍पोर्ट मिला था और समान ट्रेंड लाइन से ऊपर उठते हुए सेंसेक्‍स 17497 अंक तक गया। अब यह इसे तोड़ रहा है और दैनिक चार्ट पर ट्रेंड लाइन के नीचे बंद हुआ है। इसका परिणाम यह है कि ऐसी ट्रेंड लाइन के टूटने पर सामान्‍य रुख नरमी का होना चाहिए जब तक कि कोई चमत्‍कार न हो जाए और सेंसेक्‍स 17735 अंक के ऊपर बंद न हो।

अगले सप्‍ताह लक्ष्‍मी विजय बैंक, एचएमटी, कल्‍पतरु पावर, एलीकॉन इंजीनियरिंग, ऊषा मार्टिन, इंफोटेक एंटरप्राइजेज, एम्‍को, राने मद्रास, बजाज इलेक्ट्रिक, नेवेली लिगनाइट, सुंदरम फाइनेंस, टाट कॉफी, जेडएफ स्टियरिंग, महिंद्रा एंड महिंद्रा, ब्रिटानिया इंडस्‍ट्रीज, आईवीआर प्राइम, आईओसी, पीडीलाइट, अदानी एंटरप्राइजेज, भारत गियर्स, एचपीसीएल, एल एंड टी, टीएनपीएल, बालकृष्‍ण इंडस्‍ट्रीज, एनटीपीसी, पावर ग्रिड, हैदराबाद इंडस्‍ट्रीज, एडलैब्‍स, एजिस लॉजिस्टिक्‍स, संघवी मूवर्स, दीपक फर्टिलाइर्ज्‍स, जीएसएफसी, टाटा टी, शोभा डेवलपर्स, बैंक ऑफ राजस्‍थान, जे एंड के बैंक, सन फार्मा, पुंज लॉयड, डाबर फार्मा सहित अनेक कंपनियां अपने सालाना नतीजे पेश करेंगी।

इस सप्‍ताह निवेशक एनटरटेनमेंट नेटवर्क, प्राज इंडस्‍ट्रीज, जी न्‍यूज, नेकटरलाइफ साइंसेस, सीईएससी, मुंद्रा पोर्ट, लेन्‍को इंफ्राटेक, इंडिया इंफोलाइन, ऑस्टिन इंजीनियरिंग, विनती आर्गेनिक्‍स, ब्रिटानिया इंडस्‍ट्रीज, एरिस एग्रो और कोलगेट पॉमोलिव पर ध्‍यान दे सकते हैं। मानसून के केरल में 29 मई को दस्‍तक देने की खबर से फर्टिलाइजर, ट्रैक्‍टर, सीमेंट शेयरों में खासी हलचल देखने को मिलेगी। क्रूड के उथल पुथल में ऑयल और गैस शेयरों पर नजर बनाए रखें।

शेयर बाजार मंदडि़यों के हाथों में

हितेंद्र वासुदेव

stock भारतीय शेयर बाजार एक बार फिर मंदडि़यों की पकड़ में है। पिछली 9 मई को बनी इंगुलफिंग बीयर कैंडल स्टिक पैटर्न से ही यह पता चला गया था। इसे पैटर्न में शेयर बाजार में एक बार चढ़ाव का समय आता है लेकिन कुछ ही समय में स्थिति बदल जाती है। यह पैटर्न बताता है कि शेयर बाजार पर मंदडि़ए मजबूती से हावी है जिससे बीएसई सेंसेक्‍स में जल्‍द ही बड़ी तेजी की संभावना नहीं है। हालांकि, आने वाले दिनों में सेंसेक्‍स वापसी की कोशिश देखी जा सकती है। 16 मई 2008 को समाप्‍त सप्‍ताह में सेंसेक्‍स ने मंदी के इस पैटर्न से उबरने की कोशिश की थी। लेकिन 9 मई को जो कै‍डल स्टिक पैटर्न बना था उसे अब तक पार नहीं पाया जा सका है।

सेंसेक्‍स को स्‍पोर्ट 16546-16481 अंक पर मिलेगा। यदि सेंसेक्‍स गिरता है और 16481 अंक के नीचे बंद होता है तो 21206 से 14677 अंक गिरने के बाद होने वाली वापसी को फिलहाल भूल जाना चाहिए।

23 मई 2008 को समाप्‍त सप्‍ताह में बीएसई सेंसेक्‍स 17366.05 अंक पर खुला और ऊपर में 17367.13 अंक तक गया। यह नीचे में 16626.11 अंक आया। अंत में सेंसेक्‍स 16649.64 अंक पर बंद हुआ। साप्‍ताहिक आधार पर कुल मिलाकर 801 अंक की शुद्ध गिरावट। साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 16880-17135-17434-17735 पर देखने को मिलेगा। साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 16481 पर होगा। दैनिक चार्ट पर सेंसेक्‍स ने 14677 और 15321 पर बनी ट्रेंड लाइन को तोड़ा है। इससे पहले सेंसेक्‍स को नीचे में 16546 अंक पर स्‍पोर्ट मिला था और समान ट्रेंड लाइन से ऊपर उठते हुए सेंसेक्‍स 17497 अंक तक गया। अब यह इसे तोड रहा है और दैनिक चार्ट पर ट्रेंड लाइन के नीचे बंद हुआ है। इसका परिणाम यह है कि ऐसी ट्रेंड लाइन के टूटने पर सामान्‍य रुख नरमी का होना चाहिए जब तक कि कोई चमत्‍कार न हो जाए और सेंसेक्‍स 17735 अंक के ऊपर बंद न हो।

सेंसेक्‍स वेव विश्‍लेषण

वेव I-2594 से 3758

वेव II-3758 से 2904

वेव III-इंटरनल्‍स इस तरह:

वेव 1- 2904 से 6249

वेव 2-6249 से 4227

वेव 3-4227 से 12671

वेव IV- 12671 से 8799

वेव V- 8799 से 21206

वेव A-21206 से 14677

वेव B-14677 से 17735

वेव C- 17735 से 16626 (इस समय प्रगति पर)

इंटरनल वेव C से

वेव i- 17735 से 16546

वेव ii-16546 से 17497

वेव iii- 17497 से 16626 (इस समय प्रगति पर)

यदि सेंसेक्‍स 17735 की ऊचाई को पार करता है तो ऊपर वाली वेव काउंट लागू नहीं होगी। यदि सेंसेक्‍स गिरता है और 16481 के नीचे बंद होता है तो वेव iii कन्‍फर्म है।

वैक्लिपक वेव काउंट इस तरह:

वेव A-21206 से 14677

वेव B-14677 से 17735

वेव a-14677 से 17735 (इस समय प्रगति पर)

वेव a के इंटरनल्‍स

वेव i-14667 से 16452

वेव ii-16452 से 15464

वेव iii-15464 से 17735

वेव iv-17735 से 16626 (इस समय प्रगति पर)

16452 के नीचे यह वेव काउंट लागू नहीं होंगे।

सार

सेंसेक्‍स 16400 से नीचे जाता है तो इसमें और गिरावट बढ़ेगी। तेजडि़यों की उम्‍मीद इस पर है कि सेंसेक्‍स समय गवांए बगैर कंसोलिडेटेड होकर 17735 की ओर बढ़े, जहां उसकी परीक्षा होगी।

सप्‍ताह के लिए रणनीति

सप्‍ताह के लिए रणनीति कुल मिलाकर हर बढ़त पर बाहर निकलने की होनी चाहिए। साप्‍ताहिक रेसीसटेंस साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 17135-17434-17735 पर देखने को मिलेगा। कारोबारी संभावनाओं का लाभ उठाते हुए लांग पोजीशन से बाहर निकल जाएं।

May 19, 2008

क्‍या ऊपरी स्‍तर पर टिक पाएगा सेंसेक्‍स ?


हितेंद्र वासुदेव
भारतीय शेयर बाजार बीएसई का सेंसेक्‍स पिछले सप्‍ताह 16641.45 अंक पर खुला और नीचे में 16546.55 अंक तक गया। लेकिन जल्‍दी ही रिकवर होकर 17497.36 अंक के स्‍तर पर पहुंच गया और 17434.94 अंक पर बंद हुआ। इस तरह साप्‍ताहिक आधार पर इसमें 686 अंक की तेजी देखी गई। 20 मई से शुरु हो रहे नए सप्‍ताह की बात की जाए तो बीएसई सेंसेक्‍स का साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 17600-17773 अंक पर होगा। साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 17159-16821- 16546 अंक पर मिलेगा। यदि सेंसेक्‍स यहां गिरता है और साप्‍ताहिक बंद 16546 अंक आता है तो पिछले सप्‍ताह शेयर बाजार में बना गर्मी का मूड एक बार फिर‍ बिगड़ सकता है।

सेंसेक्‍स वेव विश्‍लेषण
वेव I-2594 से 3758
वेव II-3758 से 2904
वेव III-इंटरनल्‍स इस तरह:
वेव 1- 2904 से 6249
वेव 2-6249 से 4227
वेव 3-4227 से 12671
वेव IV- 12671 से 8799
वेव V- 8799 से 21206
वेव A-21206 से14677
वेव B-14677 से 17735
वेव C- 17735 से 17434 (इस समय प्रगति पर)
इंटरनल्‍स ऑफ वेव C
वेव i- 17735 से 16546
वेव ii-16546 से 17497 (इस समय प्रगति पर)
यदि सेंसेक्‍स 17735 अंक की ऊंचाई को पार देता है तो यह वेव काउंट लागू नहीं होगी।

वैक्‍लपिक वेव काउंट इस तरह:
वेव A-21206 से 14677
वेव B-14677 से17735
वेव a-14677 से 17735 (इस समय प्रगति पर)
इंटरनल्‍स ऑफ वेव a
वेव i-14667 से 16452
वेव ii-16452 से 15464
वेव iii-15464 से 17735
वेव iv-17735 से 16546
वेव v-16546 से 17497 (इस समय प्रगति पर)

मौजूदा वेव वी 17735 से 18431 रेंज में पूरी हो जाएगी। जब एक बार पांच वेव पूरी हो जाएगी तब वेव बी की ए वेव पूरी हो जाएगी। इसी तरह गिरने पर वेव बी की वेब बी आरंभ होगी।

वैक्‍लपिक काउंट वेव बी के
वेव a-14677 से 17735
वेव b-17735 से 16546
वेव c-16546 से 17497 (इस समय प्रगति पर)
वेव c 17735 की ऊंचाई की ओर
सार
बीएसई सेंसेक्‍स आने वाले दिनों में 16546 अंक का स्‍तर नहीं तोड़ता है तो यह ऊपर में 17735-18431 अंक तक जा सकता है।

सप्‍ताह की रणनीति
इस समय रणनीति के तहत 17735-18431 की तेजी में बाहर निकल जाना चाहिए। निवेशक कारोबारी मौकों का लाभ उठा सकते हैं लेकिन 17735-18431 पर निकलना भी तय कर लेना चाहिए। सेंसेक्‍स गिरकर 16546 अंक से नीचे बंद होता है तो सभी लांग पोजीशन से निकल जाएं।

May 12, 2008

शेयर बाजार की दौड़ पर लगा ब्रेक

हितेंद्र वासुदेव

bse भारतीय शेयर बाजार की चल रही बढ़त को पिछले सप्‍ताह झटका लगा। बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज का सेंसेक्‍स 17687 अंक पर खुला और ऊपर में 17735.70 अंक तक गया और नीचे में 16678.94 अंक तक गया। अंत में सेंसेक्‍स 16737.07 अंक पर बंद हुआ। इस तरह साप्‍ताहिक आधार पर सेंसेक्‍स में 862 अंक की नरमी आई। तकनीकी चार्ट जो स्थिति बना रहा है उसके मुताबिक यदि सेंसेक्‍स ने जल्‍दी 17735 अंक को पार नहीं किया तो शेयर बाजार में खासी गिरावट देखने को मिल सकती है।

शेयर बाजार के लिए पिछले सप्‍ताह हमने बताया था कि यदि सेंसेक्‍स 16978 अंक के नीचे बंद होता है तो शेयर बाजार की बढ़‍त खत्‍म हो सकती है। अब जो संकेत मिल रहे हैं उनके मुताबिक 14677 से 17735 अंक की जो बढ़त आई वह समाप्‍त होती दिख रही है। यहां से शेयर बाजार में और गिरावट आती है तो शेयर बाजार की परीक्षा 17735 अंक ऊंचाई पर होगी और यह पार करता है तो नया ऊपरी स्‍तर देखने को मिलेगा अन्‍यथा नया निचला स्‍तर। इन दोनों स्थितियों में बाजार का लुढ़कना ही दिखेगा। यह स्थिति तत्‍काल होगी या बाद में लेकिन होगी जरुर।

साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 17050-17422-17735 अंक पर देखने को मिलेगा। साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 16365-15308-14677 अंक पर मिलेगा। यदि सेंसेक्‍स 17735 अंक को पार करता है तो इसके बढ़कर 18193-18426 अंक तक जा सकता है।

सेंसेक्‍स वेव विश्‍लेषण

वेव I-2594 से 3758

वेव II-3758 से 2904

वेव III-इंटरनल्‍स इस तरह :

वेव 1- 2904 से 6249

वेव 2-6249 से 4227

वेव 3-4227 से 12671

वेव IV- 12671 से 8799

वेव V- 8799 से 21206

वेव A-21206 से 14677

वेव B-14677 से 17735

वेव C- 17735 से 16678 (इस समय प्रगति पर)

वेब B के वैक्लिपक काउंट

वेव a-14677 से 17735

वेव b-17735 से 16678

जब एक बार वेब बी पूरी हो जाएगी तो वेव सी 17735 से ऊपर जाने की उम्‍मीद है।

सार

जब तक सेंसेक्‍स 17735 को पार नहीं करता हरेक बढ़त नया निचला स्‍तर बनाने और बढ़त को समाप्‍त करेगी। नीचे में सेंसेक्‍स 14677 अंक तक जा सकता है।

सप्‍ताह की रणनीति

लांग पोजीशन से बाहर निकल जाएग और 17736 अंक के स्‍टॉप लॉस के साथ 17050‑17422 अंक पर बिकवाल करें। नीचे में 16365­-15308 पर बाजार की परीक्षा होगी। शुक्रवार की तेज और बड़ी गिरावट को देखते हुए सेंसेक्‍स और टूटने से पहले 17050-17422 अंक तक खींच सकता है।

May 07, 2008

शेयर बाजार पर दुनिया का पहला हिंदी पोर्टल मोलतोल डॉट इन

मोलतोल डॉट इन www.moltol.in शेयर बाजार और कारोबार जगत पर दुनिया की पहली हिंदी वेबसाइट आज 7 मई 2008 को लांच हुई। देश में अब तक पूंजी बाजार और निवेश पर अंग्रेजी में अनेक वेबसाइट मौजूद हैं लेकिन देश के एक बड़े हिंदी भाषी निवेशक वर्ग को बरसों से हिंदी की वेबसाइट का इंतजार था जो अब खत्‍म हो गया है।

मोलतोल के कार्यकारी शुभम शर्मा का कहना है कि इस वेबसाइट पर शेयर बाजार के हर पहलू की ऐसी जानकारी है जिसे आम निवेशक जानना चाहता है। सूचनाओं और उनसे समृद्ध होने का खजाना है यहां। मोलतोल डॉट इन आम आदमी को ऐसी सूचनाएं देने का प्रयास है जिससे वह वित्तीय रुप से मजबूत बनने के साथ देश को भी आर्थिक महासत्ता बनाने में अपना योगदान दे सकता है। असल में इस वेबसाइट का उद्देश्‍य आम आदमी की आर्थिक ताकत बढ़ाना है।

मोलतोल डॉट इन में शेयर बाजार, बिजनेस जगत की ताजा खबरों से लेकर दिग्‍गज संस्‍थागत निवेशकों की राय, उनसे बातचीत, पब्लिक इश्‍यू, म्‍युचुअल फंड, पूंजी बाजार पर खास फीचर और आर्थिक व्‍यंग्‍य के साथ शेयर बाजार की हस्तियों के इंटरव्‍यू, निवेश से जुड़े सवाल-जवाब और कमोडिटी बाजार का हाल हैं। साथ में है रेडियो दलाल स्‍ट्रीट जिसमें है दलाल स्‍ट्रीट में चल रही कानाफूसी, बातें, खबरें, अफवाह और बाजार की मसालेदार भेलपुरी।.

May 04, 2008

सेंसेक्‍स की चढ़ाई में है दम

हितेंद्र वासुदेव

bse भारतीय शेयर बाजार के इंडेक्‍स में फिर से जो गर्मी दिखाई दे रही है उससे पता चलता है आने वाले दिनों में बीएसई सेंसेक्‍स और एनएसई निफ्टी में दम बना रहेगा। बीएसई सेंसेक्‍स पिछले सप्‍ताह 17251.56 अंक पर खुला ओर नीचे में 16978.89 अंक तक गया लेकिन जल्‍दी ही इसने गति पकड़ी और पहुंच गया 17621;24 अंक की ऊंचाई पर। हालांकि, सेंसेक्‍स आखिर में 17600.12 अंक पर बंद हुआ जो साप्‍ताहिक आधार पर 522 अंक की बढ़त दिखा रहा है।

बीएसई सेंसेक्‍स अब अपनी ऊंचाई की ओर वापसी के दूसरे परीक्षण दौर में पहुंच गया है। इस सप्‍ताह साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 17821-17942 अंक पर देखने को मिलेगा। साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 17400-17178 -16978 पर देखने को मिलेगा। दो सौ दिन की ईएमए और एसएमए 16907 और 17424 अंक है। पिछले सप्‍ताह सेंसेक्‍स ने 17575-18193 की रेंज में प्रवेश किया। इस रेंज में पुल बैक का स्‍तर 17942 अंक दिखता है। ऊपरी छोर पर 17575-17821-17942 -18193 अंक के स्‍तर पर नजर रखनी होगी।

समान चैनल के अंतर्गत तीन अंक 15532, 14677 और 18895 अंक हैं। ऊप 17968 अंक के आसपास है। यदि बाजार लगातार ऊपर की ओर जाता है तो सेंसेक्‍स का परीक्षण कम से कम 17821-17942 -18193 अंक और 18712 अंक पर भी हो सकता है। लेकिन इस स्‍तर पर परीक्षण के लिए सेंसेक्‍स का 18193 अंक के ऊपर बंद होना जरुरी है। यदि बाजार अपने ऊपर उठने के स्‍तर को कायम नहीं रख सका और यह नीचे आता है तो इसका निचला स्‍तर 14677 अंक होगा। इस स्थिति में निवेशकों को स्‍टॉप लॉस का ध्‍यान रखना चाहिए।

सेंसेक्‍स वेव विश्‍लेषण

वेव I-2594 से 3758

वेव II-3758 से 2904

वेव III- इंटरनल्‍स इस तरह :

वेव 1- 2904 से 6249

वेव 2-6249 से 4227

वेव 3-4227 से 12671

वेव IV- 12671 से 8799

वेव V- 8799 से 21206

वेव A-21206 से 14677

वेव B-14677 से 17621 (वर्तमान में जारी)

वेव B के इंटरनल्‍स

वेव a-14677 से 16452

वेव b-16452 से 15464 (वेव बी में एक ट्रांयगल दिख रहा था)

वेव c- 15464 से 17621 (वर्तमान में जारी)

वेव 1-15464 से 15953

वेव 2-15953 से 15573

वेव 3-15573 से 16871

वेव 4-16871 से 16698

वेव 5-16698 से 17621 (वर्तमान में जारी)

यदि आने वाले दिनों में वेव 5 पूरी हो जाती है तो वेब बी पूरी हो जाएगी। इसके बाद वेव सी शुरु होगी जिसमें गिरावट के निर्देश हैं। यहां स्थिति बदलकर 17821-17942-18193 की ओर मुड़ सकती है या फिर यह 18712 अंक की ओर जा सकती है। उम्‍मीद 17821-17942-18193 अंक की वापसी खत्‍म होने की है। बाजार में चढ़ाई 18712 अंक के ऊपर है।

सार

जब तक सेंसेक्‍स 16978 अंक को नहीं तोड़ता हम सेंसेक्‍स का परीक्षण 17821-17942-18193 अंकों पर देखेंगे। कारोबारी स्‍टॉप लॉस 16978 अंक का रखें और ऊपरी स्‍तरों पर पोजीशन हल्‍की करें।

May 01, 2008

चावल कंपनियों के शेयरों में उबाल नहीं

stock बासमती चावल के निर्यात पर निर्यात कर लादने की घोषणा से बासमती चावल निर्यात करने वाली कंपनियों के शेयरों को झटका लगा है। बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज में 30 अप्रैल 2008 बुधवार को चावल कंपनियों में केआरबीएल 131.85 रुपए (पिछला बंद भाव 138.75 रुपए), कोहिनूर फूड्स लिमिटेड 94.95 रुपए (पिछला बंद भाव 94.95 रुपए) , एल टी ओवरसीज 57.85 रुपए (पिछला बंद भाव 60.85 रुपए), आरईआई एग्रो 1556.75 रुपए (पिछला बंद भाव 1567.75 रुपए) और चमनलाल सेतिया एक्‍सपोर्टस 31.25 रुपए (पिछला बंद भाव 30.65 रुपए) पर बंद हुआ। इन मुख्‍य चावल निर्यातक कंपनियों में से चमनलाल सेतिया एक्‍सपोर्टस में ही मामूली बढ़त दिखी बाकी सभी नरम रहीं।

इन चावल कंपनियों के शेयरों के पिछले 52 सप्‍ताह के ऊपरी और निचले भावों को देखें तो केआरबीएल 195/68 रुपए, कोहिनूर फूड्स लिमिटेड 139/45 रुपए, एल टी ओवरसीज 104/36 रुपए, आरईआई एग्रो 1670/188 रुपए और चमनलाल सेतिया एक्‍सपोर्टस 51/23 रुपए था।

केंद्र सरकार ने बासमती चावल के निर्यात को हतोत्साहित करने के इरादे से इस पर आठ हजार रुपए प्रति टन का निर्यात कर लाद दिया है। साथ ही बासमती चावल के निर्यात मूल्य में भी कटौती कर इसे 1200 डॉलर प्रति टन से घटाकर 1000 डॉलर प्रति टन तक कर दिया है। हुआ। इससे पहले केंद्र सरकार ने पिछले ही महीने बासमती चावल के निर्यात पर मिलने वाली डयूटी इन्टाइटलमेंट पासबुक(डीईपीबी) स्कीम लाभ को वापस ले लिया था। बासमती चावल कंपनी केआरबीएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अनिल मित्तल का कहना है कि यह कर बासमती के कारोबार पर अहम असर डाल सकता है।

भारत में पैदा होने वाले कुल बासमती चावल का 80 फीसदी यानी 12.8 लाख टन निर्यात किया जाता है। वर्ष 2006-07 में 2792 करोड़ रुपए मूल्य का 10.45 लाख टन बासमती निर्यात किया गया था। वर्ष 2007-08 में अप्रैल से नवंबर के दौरान 2028 करोड़ रुपए का 6.48 लाख टन चावल का निर्यात हुआ।

इक्विटी बाजार विश्‍लेषकों का कहना है कि बासमती चावल के निर्यात से जुड़ी कंपनियों के पास काफी बेहतर निर्यात आर्डर हैं लेकिन सरकारी फैसले से इनकी कमाई और लाभ पर असर पड़ेगा। हालांकि, चावल कंपनियां अपने पुराने आपूर्ति अनुबंधों को पूरा कर सकेंगी लेकिन नए निर्यात ऑर्डर नहीं लेंगी जिसका उनके कामकाम पर असर पड़ना तय है। निर्यात कर से अब चावल कंपनियों के लिए अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कामकाज करना फायदे का सौदा नहीं रहा और उन्‍हें घरेलू बाजार में अपनी बिक्री बढ़ाने पर मजबूर होना पड़ेगा।

खाद्यान्‍न संकट पर विश्‍व बैंक और संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ की अन्‍य एजेंसियों की रिपोर्ट आने के बाद कई देश खाद्यान्‍नों के निर्यात को लेकर सख्‍त हो गए हैं। भारत की तरह थाईलैंड ने भी गैर बासमती चावल के निर्यात पर रोक लगा दी है। इसके अलावा वियतनाम, इंडोनेशिया, ब्राजील और इज्‍पित भी चावल निर्यात को रोक चुके हैं।